राजनीति

राजनीति

राहुल के खिलाफ कांग्रेसी साजिश!

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान कांग्रेस के भीतर दो महत्वपूर्ण फैसले लिए गए. पहला फैसला प्रियंका गांधी को सक्रिय राजनीति में लाने का था. कांग्रेस के कई नेता प्रियंका को सक्रिय राजनीति में लाने और उन्हें को...

इलेक्टोरल बॉन्ड : चुनावी चंदे का स्रोत सार्वजनिक होना जरूरी

नगद हो या चेक, चुनावी रसीद हो या इलेक्टोरल ट्रस्ट या फिर नया-नवेला इलेक्टोरल बॉन्ड. चुनावी चंदे के किसी भी प्रकार को लेकर सबसे महत्वपूर्ण सवाल सिर्फ एक है कि क्या चुनावी चंदे में काला धन इस्तेमाल हो र...

पीएम बनने के लिए केंद्रीय मंत्री का षड्यंत्र

राजनीति का खेल भी अजीबोगरीब है. पूरे देश में हर पार्टी चुनाव प्रचार में जुटी है और ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतने की कोशिश कर रही है. लेकिन, हर पार्टी के भीतर भी कांटे की भिडं़त जारी है. दुनिया के सामने...

अबकी बार किसकी सरकार

जीएसटी से दिक्कत नहीं बिहार सेंट्रल चैंबर ऑफ  कॉमर्स के पूर्व अध्यक्ष एवं व्यवसायी देवेंद्र कुमार जैन का मानना है कि राष्ट्र हित में और देश के चहुंमुखी विकास के लिए दोबारा नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में...

राजरंग : प्रियंका का हाथ, सेना के साथ

प्रियंका का हाथ, सेना के साथ कांग्रेस की ओर से हर मंच पर राहुल गांधी की नीतियों का समर्थन करने वाली प्रियंका चतुर्वेदी को अब उन्हीं नीतियों का विरोध करना होगा. कांग्रेस की मुखर आवाज रहीं चतुर्वेदी ने...

हाशिये पर किसान-कामगार

लोकतंत्र का महापर्व जारी है, सियासत दां गला फाडक़र आम जन के लिए ‘दरियादिली’ की नुमाइश कर रहे हैं. हर तरफ  नित नए ऐलान देखकर जनता भौचक है. लेकिन, किसानों-कामगारों का दर्द अभी तक तारी है, किसी ने उनके जख...

खिलाड़ी बिगाड़ रहे हैं खेल

लोकसभा चुनाव को लेकर राज्य में अगर कुछ तय है, तो यह कि इस बार कांग्रेस फिसड्डी नहीं रहने वाली. 2014 के चुनाव में मोदी लहर के चलते कांग्रेस की झोली खाली रह गई थी. भाजपा इस बार भले ही २५ का आंकड़ा न दोह...

बिहार की राजनीति के ‘वीआई पी’

आम तौर पर भारतीय राजनीति को एलीट क्लास का ‘खेल का मैदान’ माना जाता रहा है. लेकिन, बीच-बीच में यहां आम आदमी का हस्तक्षेप भी होता रहा है. नेहरू के एलिटिज्म को चुनौती देते हुए लोहिया हों या इंदिरा की तान...

त्रिकोणीय मुकाबले में फंस गए नवीन

पिछले 19 सालों से ओडिशा में एकछत्र शासन करने के साथ-साथ जबरदस्त लोकप्रियता हासिल करने वाले नवीन पटनायक को पहली बार गंभीर चुनौती का सामना करना पड़ रहा है. चुनाव की घोषणा होने से पहले तक उनके पांचवीं बा...

प्रधानमंत्री की हत्या की साजिश

हम इस बार एक ऐसा सच उजागर कर रहे हैं, जो कई सालों से सरकारी फाइलों में दफन था. यह ऐसा खुलासा है, जिसे जानकर आपके दिलोदिमाग को यकीनन एक झटका लगेगा. यह ऐसा सच है, जिसके बारे में किसी ने सपने में भी नहीं...

कांग्रेस चेती, भाजपा ने नहीं बदला ढर्रा

लगता है, भारतीय जनता पार्टी ने विधानसभा चुनाव के नतीजों से कोई सबक नहीं लिया. यही वजह है कि लोकसभा चुनाव सिर पर होने के बावजूद पार्टी के अंदरखाने कलह थमने का नाम नहीं ले रहा. इसके ठीक विपरीत कांग्रेस...

कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं गौर

वरिष्ठ भाजपा नेता एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबू लाल गौर कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं. ऐसा माना जा रहा है कि वह आगामी लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर भोपाल से लडऩे की तैयारी कर रहे है...

×