सुरक्षा पर सवाल उठा रहे अग्नि हादसे  

ओपिनियन पोस्ट
Tue, 18 Oct, 2016 11:16 AM IST

नई दिल्ली। ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर और मुंबई में आग लगने की घटनाओं ने बड़े भवनों में अग्नि सुरक्षा पर सवाल खड़ा कर दिया है। हालांकि जांच के आदेश दे दिए गए हैं। भुवनेश्‍वर के इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड एसयूएम हॉस्पिटल के आईसीयू वार्ड में सोमवार शाम आग लगने से अब 23 लोगों की मौत हो चुकी है और 50 से ज्यादा घायल बताए जा रहे हैं। वहीं मुंबई के कफ़ परेड इलाक़े में मेकर टावर की 20वीं मंज़िल पर आग लगने से दो लोगों की मौत हो गई।

भुवनेश्‍वर के असपताल में ज्यादातर मरीजों की मौत दम घुटने से हुई है। हालांकि कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया है। सीएम नवीन पटनायक ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। बताया जा रहा है कि ऑक्सीजन चैंबर में शॉर्ट सर्किट के कारण आग लगी।

मोदी ने जताया दुख

घटना को लेकर पीएम मोदी ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा से फोन पर बात की। नड्डा ने पूरी घटना के बारे में पीएम मोदी को जानकारी दी। पीएम मोदी ने सभी घायलों को तुरंत दिल्ली के एम्स में लाने के लिए कहा है। साथ ही पीएम ने ट्वीट कर घटना पर गहरा दुख जताया है। मोदी ने ट्वीट किया, ‘ओडि‍शा के अस्पताल में लगी आग में लोगों की जान जाने से काफी दुखी हूं। यह त्रासदी दिमाग को झकझोर देने वाली है। मेरी संवेदनाएं शोकाकुल परिवारों के साथ हैं।’ उन्होंने कहा, ‘स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा से बात की है और उन्हें घायलों को एम्स में भर्ती कराने की व्यवस्था करने को कहा है। उम्मीद है कि घायल लोग जल्द स्वस्थ होंगे।’

READ  क्या दाउद करता था जाकिर नाइक के एनजीअाे काे हवाला से फंडिंग

इस बीच, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा ने ट्वीट कर कहा कि केंद्र इस मामले में ओडिशा को हर जरूरी मदद दे रहा है। नड्डा ने कहा कि वह पहले ही भुवनेश्वर स्थित एम्स के अधिकारियों से बात कर चुके हैं और उनसे मरीजों को हर जरूरी मदद करने को कहा है।

हेल्पलाइन नंबर

ओडिशा के स्वास्थ्य सचिव आरती आहूजा ने घटना की विभागीय जांच के आदेश दिए हैं। हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं। एएमआरआई का नंबर है- 0674-6666600, कैपिटल हॉस्पिटल का नंबर- 9439991226 है।

मुंबई के मेकटॉवर में आग से दो की मौत

मुंबई के कफ़ परेड इलाक़े में मेकर टावर की 20वीं मंज़िल पर लगी आग से दो लोगों की मौत की खबर है। आग बजाज इलेक्ट्रिकल्स के मैनेजिंग डायरेक्टर शेखर बजाज के घर में लगी और फिर पड़ोस का घर भी चपेट में आ गया।

पांच साल पहले कोलकाता के अस्पताल में आग से 89 की मौत हुई थी। 2011 में कोलकाता के एएमआरआई अस्पताल में भीषण आग लगी थी जिसकी चपेट में आने से 89 लोग मारे गए थे जिनमें 85 मरीज थे।

 

×