बिंद्रा बने एशियाई एयर गन चैंपियन

नई दिल्ली : देश के सबसे सफल निशानेबाज अभिनव बिंद्रा ने एशियाई एयर गन चैंपियनशिप की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा का स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया। डॉक्टर कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में रविवार को आयोजित इस स्पर्धा में उन्होंने 208.3 अंक हासिल किया। वहीं, लंदन ओलिंपिक 2012 में इसी स्पर्धा का कांस्य पदक जीतने वाले भारत के गगन नारंग को 164.5 अंक के साथ चौथे स्थान से संतोष करना पड़ा। नारंग ने 10.6 और 10.6 के दो शॉट लगाकर अच्छी शुरुआत की, लेकिन अगले प्रयास में वह पिछड़ गए। देश के अन्य निशानेबाज चैन सिंह छठे स्थान पर रहे। सिंह को शूट ऑफ में कोरिया के किम दाजिन ने हराया। कजाकिस्तान के युरकोव युकिरी (206.6) दूसरे और कोरिया के यु जीचुल (185.3) तीसरे स्थान पर रहे।

भारत ने दस मीटर एयर राइफल टीम स्पर्धा का भी स्वर्ण पदक जीता। बिंद्रा, नारंग और चैन सिंह की जोड़ी ने कुल 1868.6 अंक हासिल कर पहला स्थान हासिल किया। कोरियाई टीम दूसरे और सऊदी अरब की टीम तीसरे स्थान पर रही। भारत ने युवा वर्ग में एक स्वर्ण और दो रजत और लड़कों के जूनियर वर्ग में दो रजत पदक जीते। सत्यजीत कंडोल ने युवा वर्ग के दस मीटर एयर राइफल में स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने 204.8 अंक बनाकर चीनी ताइपै के शाओ चुआन लु (203.7) को पीछे छोड़ा। ईरान के दावोद अबादी अब्बासाली (183.8) तीसरे स्थान पर रहे। कंडोल, मिथिलेश और गजेंद्र राज ने इस सेगमेंट के टीम स्पर्धा में 1827.7 अंक के साथ रजत पदक जीता। कोरिया ने स्वर्ण पदक हासिल किया।

बीजिंग ओलिंपिक के स्वर्ण पदक विजेता बिंद्रा ने पदक जीतने के बाद कहा, ‘यह कड़े अभ्यास का नतीजा है। मैं हमेशा अपनी तरफ से सर्वश्रेष्ठ करने का प्रयास करता हूं। पदक जीतना हमेशा अच्छा लगता है। मैं इसे अभ्यास नहीं कह सकता क्योंकि इसमें पदक दांव पर लगा था। रियो ओलंपिक के लिये यह अच्छी तैयारी है।’ भारत के इन तीनों निशानेबाजों ने अगले साल रियो में होने वाले ओलिंपिक खेलों का टिकट हासिल कर लिया है। 2010 राष्ट्रमंडल खेलों के बाद भारत में पहली बार निशानेबाजी की कोई अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता हो रही है। भारत के राइफल कोच स्टेनिसलाव लेपिडस को टूर्नामेंट में बिंद्रा की संभावना पर कोई संदेह नहीं था। उन्होंने कहा, ‘इस परिणाम की मुझे उम्मीद थी लेकिन गगन के मामले में थोड़ा अलग रहा। वह भविष्य की तैयारी कर रहा है।’

जूनियर वर्ग में प्रतीक बोर्स ने 203.9 अंक बनाकर रजत पदक हासिल किया। ईरान के मोहम्मद हुसैन करीमी (205.4) ने स्वर्ण पदक, जबकि कोरिया के चांगजी हान (183.2) ने कांस्य पदक जीता। बोर्स ने प्रशांत और अखिल शेरोन के साथ मिलकर जूनियर टीम स्पर्धा का रजत पदक भी जीता। वे 1856.4 अंक लेकर ईरान के बाद दूसरे स्थान पर रहे। कोरिया ने कांस्य पदक जीता।

 

×