स्कूलों में योग को अनिवार्य नहीं किया जा सकता- SC

ओपिनियन पोस्ट
Tue, 08 Aug, 2017 13:39 PM IST

सुप्रीम कोर्ट ने देशभर के स्कूलों में बच्चों के पाठ्यक्रम में योग को अनिवार्य करने की मांग की याचिका को खारिज कर दिया है। कोर्ट ने कहा कि ये तय करना हमारा मूल अधिकार नहीं है कि स्कूलों में क्या पढ़ाया जाए और क्या नहीं। कोर्ट को स्कूलों के पाठ्यक्रम से कुछ लेना-देना नहीं है।

इससे पहले केंद्र सरकार ने कोर्ट में कहा कि योग को स्कूलों में अनिवार्य नहीं बनाया जा सकता। केंद्र के मुताबिक योग को सभी स्कूलों में अनिवार्य करना ‘शिक्षा के अधिकार’ एक्ट के तहत भी जरूरी नहीं किया जा सकता है।

बताते चलें कि जे.सी सेठ नाम के एक शख्स ने 2011 में सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की थी। इसमें कहा गया था कि कक्षा एक से आठवीं तक योग देशभर के सभी स्कूलों के पाठ्यक्रम में अनिवार्य किया जाए। उसके बाद कोर्ट ने मामले पर केंद्र और राज्य सरकारों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था।

READ  हथियार छीन ले जाते हैं आतंकी
×