साहित्य अकादमी 2016 का प्रतिष्ठित पुरस्कार हिन्दी के लिए नासिरा शर्मा, उर्दू के लिए निजाम सिद्दीकी, अंग्रेजी के लिए जेरी पिंटो और संस्कृत के लिए सीतानाथ आचार्य शास्त्री सहित 24 भाषाओं के रचनाकारों को देने का आज ऐलान किया गया।

साहित्य अकादमी के सचिव के श्रीनिवास राव ने बताया कि इस साल आठ कविता-संग्रह, पांच उपन्यास, दो समालोचना, एक निबंध संग्रह और एक नाटक के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार दिया जाएगा । यह  पुरस्कार 22 फरवरी2017 दिया जाएगा।

राव ने बताया कि हिन्दी में नासिरा शर्मा को उनके उपन्यास ‘पारिजात’ के लिए जबकि उर्दू में निजाम सिद्दीकी को उनकी समालोचना ‘माबाद-ए-जदिदिआज से नये अहेद की तखलिकियात तक’ और अंग्रेजी में जेरी पिंटो को उनके उपन्यास ‘एम एंड द बिग हूम’ के लिए पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

सचिव ने बताया कि मैथली में श्याम दरिहरे को उनके कहानी संग्रह ‘बडकी काकी एट हॉटमेल डॉट कॉम’, पंजाबी में स्वराजबीर को उनके नाटक ‘मसिआ दी रात’ और राजस्थानी में बुलाकी को उनके कहानी संग्रह ‘मरदजात अर दूजी कहाणियां’ के लिए पुरस्कार से नवाजा जाएगा।

उन्होंने कहा कि असमिया में ज्ञान पुजारी को उनके कविता संग्रह ‘मेघमालार भ्रमण’, बोडो में अंजु (अंजलि नार्जारी) को उनके कविता संग्रह ‘आं माबोरै दं दासों’ के लिए, डोगरी में छत्रपाल को उनके कहानी संग्रह ‘चेता’ के लिए, गुजारती में कमल वोरा को उनके कविता संग्रह ‘अनेकअेक’ के लिए, कन्नड में बोलवार महमद के। को उनके उपन्यास ‘स्वतंत्रायदा ओटा’ के लिए साहित्य अकादमी सम्मान से नवाजा जाएगा।

राव ने कहा कि मलयालम् में प्रभा वर्मा को उनके कविता संग्रह ‘श्याममाधवम’ के लिए, बांग्ला में नृसिंह प्रसाद भादुडी को उनके निबंध ‘महाभारतेर अष्टादशी’ के लिए ,कश्मीरी में अजीज हाजिनी को उनकी समालोचना ‘आने खाने’ को साहित्य अकादमी पुरस्कार देने के लिए चुना गया है।

READ  आधुनिक इंजीनियरिंग के लिए सबक बने पुराने बहुमंजिले भवन