मैगज़ीन

मैगज़ीन

ऐसे हटेगा अतिक्रमण

शहर हो या गांव, अतिक्रमण हर जगह की एक आम समस्या है. शहरों में यह समस्या काफी विकराल रूप ले चुकी है. गलियों में अवैध पार्किंग हो या दुकानों के जरिये सडक़ और फुटपाथ पर अतिक्रमण या फिर पार्क एवं खेल के मै...

तंत्र के शिकार आदिवासी बेदखली की कगार पर

जंगल और आदिवासियों के बीच अटूट रिश्ता रहा है. वे खुद को जंगलों-वनों एवं नदियों-पहाड़ों का प्राकृतिक संरक्षक और उन्हें अपना पूर्वज-संबंधी मानते हैं. उनके गीतों, नृत्यों, कहानियों और जीवन की हर धडक़न में...

राफेल डील क्या राहुल के आरोप सच्चे हैं ?

भारत मिसाइल टेक्नोलॉजी में दुनिया की पहली पंक्ति में खड़ा है. न्यूक्लियर रिएक्टर की टेक्नोलॉजी में भी अमेरिका और रूस के साथ खड़ा है. चीन, फ्रांस और इंग्लैंड से काफी आगे है. सैटेलाइट एवं अंतरिक्ष यान ब...

बड़ा हमला बड़ा बदला

चौदह फरवरी को कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के दस दिनों बाद ही भारतीय सेना ने सीआरपीएफ जवानों की शहादत का ‘बदला लेने’ का अपना वादा निभाकर दिखा दिया. देश की वायुसेना ने अपने मिशन को बड़ी बहादुरी...

अबकी बार किसकी सरकार

नरेंद्र मोदी बहुत जरूरी नवादा भाजपा के जिला प्रवक्ता पवन कुमार गुप्ता कहते हैं कि देश के लिए नरेंद्र मोदी बहुत जरूरी हैं, क्योंकि प्रधानमंत्री बनने के बाद उन्होंने भारत का नाम विश्व पटल पर उस स्तर तक...

सियासी गलियों में वेलेंटाइनी बयार

देश के सियासी गलियारों में मौसमी वेलेंटाइंस की चहलकदमी बढ़ गई है, जहां ‘रोज-चॉकलेट’ नहीं, बल्कि मनपसंद सीट-पद आदि प्रेम की प्रगाढ़ता बढ़ाने के औजार हैं. कोई इस बात पर खुशी से फूला नहीं समा रहा कि ‘काम...

कैसे-कैसे पिता

विजय शर्मा आपके बच्चे आपके बच्चे नहीं हैं। वे जीवन की खुद के प्रति लालसा के पुत्र-पुत्रियां हैं। वे आपके द्वारा आए पर आपसे नहीं आए और हालांकि वो आपके साथ हैं पर फिर भी आपके नहीं हैं।’ खलील जिब्रान की...

मिलावट का मीठा जहर…

देवाशीष उपाध्याय प्राय: जिन मिठाइयों को आप काजू, पिस्ता, शुद्ध देशी घी, शुद्ध खोये का बना मानकर मोटा पैसा देकर दुकानदार से खरीद कर बड़े चाव से खा रहे हैं, उनमें बड़े पैमाने पर सिंथेटिक और रासायनिक पदार्...

सुमो की ‘लालू-लीला’

प्रियदर्शी रंजन बिहार भाजपा के अघोषित आलाकमान और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने अपने प्रतिद्वंद्वी राष्ट्रीय जनता दल सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पर ‘लालू-लीला’ नामक एक पुस्तक लिखी है। इस पुस्तक में...

टूट की कगार पर इनेलो!

मलिक असगर हाशमी हरियाणा की मुख्य विपक्षी पार्टी इंडियन नेशनल लोकदल टूट की कगार पर है। चौटाला परिवार में छिड़ी वर्चस्व की जंग के चलते पार्टी के भविष्य को लेकर कार्यकर्ता सशंकित हैं। पार्टी सुप्रीमो ओमप्...

मॉडन इंडियन- भारत माता की जय

अमीश। मैंने शशि थरूर की बेहतरीन पुस्तक ‘एन इरा आॅफ डार्कनेस’ पढ़ी थी, जो उस भयावहता का अध्ययन है जिसका नाम ब्रिटिश राज था। और मुझे अपने अंदर एक जाना-पहचाना गुस्सा उमड़ता महसूस हुआ; वैसा जैसा मैंने बहुत...

स्वाभिमानी – सीधी शोभा की त्रासदी

सुप्रिया यादव शोभा से दो महीने पहले मिली थी जब वह काम मांगने विरार वाले मेरे घर आई थी। मेरी बिल्डिंग के वॉचमैन ने उसे बताया था कि हमारे यहां घर का काम करने वाली की जरूरत है। काम तो हम दे न सके क्योंकि...

×