ओपिनियन पोस्‍ट
नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने 15वें उपराष्ट्रपति के निर्वाचन के लिये आज चुनाव कार्यक्रम घोषित कर दिया। मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने चुनाव आयुक्त एके जोती और ओपी रावत के साथ चुनाव कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि उपराष्ट्रपति चुनाव की अधिसूचना चार जुलाई को जारी कर दी जायेगी।
जैदी ने बताया कि आयोग द्वारा चार जुलाई को चुनाव की अधिसूचना जारी होने के साथ ही इच्छुक उम्मीदवार उपराष्ट्रपति पद के लिये नामांकन पत्र दाखिल कर सकेंगे।
पांच अगस्त को वोटिंग
नामांकन पत्र दाखिल करने की अंतिम तिथि 18 जुलाई होगी। जबकि उम्मीदवारों द्वारा भरे गये नामांकन पत्रों की जांच का काम 19 जुलाई को किया जाएगा। उन्होंने बताया कि यदि जरूरी हुआ तो उपराष्ट्रपति पद के लिये पांच अगस्त को चुनाव होगा।
सुबह दस बजे से शाम पांच बजे तक वोटिंग
राष्ट्रपति एवं उपराष्ट्रपति निर्वाचन अधिनियम 1952 और इस हेतु बनायी गयी नियमावली 1974 के तहत उपराष्ट्रपति पद के चुनाव हेतु संसद के दोनों सदनों के निर्वाचित एवं नामित प्रतिनिधयों द्वारा गठित निर्वाचक मंडल के सदस्य मतदान कर सकते हैं। इसके लिये निर्वाचक मंडल के सभी सदस्य पांच अगस्त को सुबह दस बजे से शाम पांच बजे तक होने वाले मतदान में वोट डाल सकेंगे।
मतदान के दिन ही मतगणना
निर्वाचक मंडल में लोकसभा के 543 निर्वाचित एवं 2 मनोनीत सांसद जबकि राज्यसभा के 233 निर्वाचित  एवं 12 मनोनीत सांसदों को मिलाकर कुल 790 सदस्य शामिल हैं। जैदी ने बताया कि उपराष्ट्रपति चुनाव की मतगणना मतदान के दिन, पांच अगस्त को ही होगी। मौजूदा उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का कार्यकाल 10 अगस्त 2017 को समाप्त हो रहा है। इससे पहले 15वें उपराष्ट्रपति की निर्वाचन प्रक्रिया  को पूरा करना जरूरी है।
बता दें कि मौजूदा उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त हो रहा है ऐसे में उससे पहले चुनाव संपन्न कराया जाना है।
राष्ट्रपति की तरह एनडीए उप राष्ट्रपति पद के लिए भी अपनी पसंद का उम्मीदवार ला सकती है माना जा रहा है कि दलित -आदिवासी फार्मूला के तहत बीजेपी झारखण्ड के राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू का नाम आगे कर सकता है

READ  साहित्य अकादमी 2016 के पुरस्कारों की घोषणा