रूस ने एक नई मिसाइल तैयार की है जिसका नाम ‘जिरकोन’ है। यह हाईपरसोनिक है यानी आवाज से तेज जिसकी रफ़्तार हो। इस हाइपरसोनिक एंटी-शिप मिसाइल की रफ्तार लगभग 7400 किमी प्रति घंटा बताई जा रही है। कहा जा रहा है कि एक बार लॉन्च करने के बाद इसे रोकना काफी मुश्किल है।

रूस के रक्षा मंत्रालय ने मंगलवार को इस मिसाइल की तस्वीर जारी की है। अगर एक बार लॉन्च करने के बाद इस मिसाइल को रोकने की कोशिश की गई, तो इसका मलबा भी निशाने को काफी हद तक नुकसान पहुंचाएगा। इस मिसाइल की सबसे बड़ी ताकत इसकी रफ्तार ही है, यही कारण है कि अमेरिका भी इस मिसाइल के सामने आने के बाद टेंशन में है।

इस मिसाइल की क्षमता लगभग 400 किमी। तक बताई जा रही है, इसे 2022 तक रूस की सेना में शामिल किया जाएगा। इस मिसाइल में स्क्रैमजेट इंजन का उपयोग किया गया है, जो कि हवा में से ऑक्सीजन का प्रयोग करता है। इस मिसाइल में कोई चलन वाला हिस्सा नहीं है।

जिरकोन के साथ ही लॉन्च होने वाला पहला जहाज किरोव-वर्ग परमाणु शक्ति वाले युद्ध क्रूजरों में से एक होने की संभावना है, इनमें से दो अभी भी रूसी नौसेना के साथ है।

बताया जा रहा है कि जल्द ही आने वाले समय में भारत के पास भी अपनी हाइपरसोनिक एंटी-शिप मिसाइल होगी। भारत में अभी दूसरी पीढ़ी के ब्रह्मोस मिसाइल को तैयार किया जाएगा। इसमें भी स्क्रैमजेट इंजन का उपयोग किया जाएगा।

READ  एच-1बी वीजा को लेकर अमेरिका की नई नीति से भारतीय आईटी पेशेवरों में हताशा