नई दिल्‍ली।

आर्थिक जगत में मजबूत ताकत बने रहने में भारत को एक बड़ी सफलता मिली है, क्‍योंकि अमेरिका ने भारत के साथ प्राकृतिक तरल गैस (एलएनजी) के निर्यात को मंजूरी दे दी है। अनुमति 1.8 अरब घन फुट प्रति दिन के प्राकृतिक गैस निर्यात को दी गई है।

अमेरिका ने एक अपतटीय परियोजना से प्राकृतिक तरल गैस (एलएनजी) के निर्यात के लिए दीर्घावधि आवेदन को अनुमति प्रदान की है। यह परियोजना मेक्सिको की खाड़ी में एक भारतीय और अमेरिकी कंपनी का संयुक्त उपक्रम है।

ऊर्जा विभाग ने कहा कि डेलफिन एलएनजी के प्रस्तावित अपतटीय लुइसियाना फ्लोटिंग टर्मिनल से 1.8 अरब घन फुट प्रति दिन के प्राकृतिक गैस निर्यात को अनुमति दी गई है। अमेरिका के ऊर्जा मंत्री रिक पेरी ने एक बयान में कहा कि हमें इस बात की खुशी है कि इस अनुमति के बाद अमेरिका एक मजबूत ऊर्जा ताकत बना रहेगा।

निकल की वायदा कीमत 0.23 प्रतिशत चटकी

सुस्त मांग के कारण हाजिर बाजार से कमजोरी का संकेत लेते हुए व्यापारियों ने अपने सौदों के आकार को कम किया जिससे वायदा कारोबार में शुक्रवार को निकल की कीमत 0.23 प्रतिशत की गिरावट के साथ 568.90 रुपये प्रति किलोग्राम रह गई। एमसीएक्स में निकल के जून महीने में डिलिवरी वाले अनुबंध की कीमत 1.30 रुपये अथवा 0.23 प्रतिशत की गिरावट के साथ 568.90 रुपये प्रति किलोग्राम रह गई जिसमें 1,321 लॉट के लिए कारोबार हुआ।

इसी प्रकार निकल के जुलाई महीने में डिलिवरी वाले अनुबंध की कीमत 1.10 रुपये अथवा 0.19 प्रतिशत की गिरावट के साथ 574.50 रुपये प्रति किलोग्राम रह गई जिसमें 42 लॉट के लिए कारोबार हुआ। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि निकल की वायदा कीमतों में गिरावट का कारण घरेलू हाजिर बाजार में मिश्रधातु निर्माताओं की मांग घटने के कारण सटोरियों द्वारा अपने सौदों की कटान करना था।

READ  भारत, चीन फैलाए प्रदूषण, हर्जाना अमेरिका क्यों दे