भारत ने ईडन गार्डन्स पर शानदार प्रदर्शन करते हुए दूसरे टेस्ट के चौथे दिन न्यूजीलैंड को 178 रन से करारी शिकस्त दे दी। इसके साथ ही भारत ने तीन मैचों की श्रंखला में 2-0 की अजेय बढ़त बना ली। इसकी बदौलत वह चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष से हटाकर शिखर पर काबिज हो गया।

टीम इंडिया ने घरेलू मैदान पर खेले 250वें टेस्ट में न्यूजीलैंड को जीत के लिये 376 रन का विशाल लक्ष्य दिया। मेहमान टीम ने शुरू में बेहतर खेल दिखाया लेकिन चाय के बाद के सत्र में टीम बुरी तरह बिखर गयी और 81.1 ओवर में 197 रन पर सिमट गई। इससे पहले घरेलू टीम ने दूसरी पारी में 76.5 ओवर में 263 रन बनाए थे।

रोहित शर्मा ने रविवार को 82 रन की पारी खेली थी। रिद्धिमान साहा ने भी 120 गेंद में छह चौकों की मदद से नाबाद 58 रन की पारी से मैच में लगातार दूसरा अर्धशतक जमाया। इस असंभव लक्ष्य का पीछा करने उतरी न्यूजीलैंड टीम का पतन दिन के अंतिम सत्र में हुआ जिसमें उसने सात विकेट गंवाए। उसके सलामी बल्लेबाज टाम लाथम 74 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहे जिसमें आठ चौके शामिल थे।

लाथम की पारी ने न्यूजीलैंड के लिए कुछ उम्मीद जगाई लेकिन आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने चाय के बाद दूसरे ही ओवर में ऐसी किसी संभावना पर पानी फेर दिया। लाथम चाय के बाद अपने 74 रन में एक भी रन नहीं जोड़ सके और अश्विन की गेंद पर बल्ला भिड़ाकर विकेटकीपर साहा को आसान कैच दे बैठे। लाथम के अलावा ल्यूक रोंची ने 60 गेंद में 32 रन बनाए जिसमें चार चौके शामिल हैं। हालांकि इसके बाद न्यूजीलैंड की पूरी टीम इस अजीबोगरीब पिच पर विफल रही जिसका तेज गेंदबाजों और स्पिनरों ने भरपूर फायदा उठाया।

READ  राहुल द्रविड़ को आईसीसी ने हॉल ऑफ फेम में किया शामिल

भारत की ओर से अश्विन (82 रन देकर) और रविंद्र जडेजा (41 रन देकर) ने तीन-तीन विकेट चटकाए। अश्विन ने लंच के बाद पांचवीं गेंद में खराब फार्म में चल रहे मार्टिन गुप्टिल (24) को आउट कर पहले विकेट के लिए 55 रन की भागीदारी का अंत किया। भारत ने इस सत्र में 80 रन देकर तीन विकेट हासिल किए। गुप्टिल के जाने के बाद हेनरी निकोल्स ने लाथम का अच्छा साथ निभाया लेकिन वह 24 रन के स्कोर पर जडेजा की गेंद पर स्लिप में कैच देकर पवेलियन लौट गए। इस दौरान पिच पर लाथम डटे रहे और उन्होंने जडेजा की गेंद को डीप स्क्वायर लेग में स्वीप करते हुए अपना लगतार दूसरा और कुल नौंवा अर्धशतक पूरा किया। भाग्य ने लाथम का साथ दिया। वह अश्विन की गेंद को सही टाइमिंग से नहीं खेल पाए लेकिन उन्हें कोहली और गेंदबाज के बीच हुई गफलत का फायदा मिल गया। कोहली ने भी शार्ट कवर पर कैच के लिए डाइव किया, अश्विन भी इसे लपकना चाहते थे लेकिन दोनों में से कोई भी कैच नहीं ले सका। फिर अश्विन ने न्यूजीलैंड के कार्यवाहक कप्तान रास टेलर (04) को पगबाधा आउट किया।

तेज गेंदबाजों में मोहम्मद शमी ने बेहतरीन गेंदबाजी करके 46 रन देकर तीन विकेट हासिल किए। पुरानी गेंद से रिवर्स स्विंग हासिल करने वाले शमी ने पुछल्ले बल्लेबाजों का सफाया कर दिया। शमी ने मिशेल सैंटनर (09) और बीजे वाटलिंग (01) को लगातार ओवरों में पवेलियन भेजकर न्यूजीलैंड की उम्मीदें तोड दीं। इससे पहले भारत ने आठ विकेट पर 227 रन से खेलना शुरू किया और टीम 76.5 ओवर में 263 रन पर सिमट गई। टीम के आउट होने से पहले रिद्धिमान साहा ने इस मैच में दूसरा अर्धशतक जड़ लिया था। वह 58 रन बनाकर नाबाद रहे। न्यूजीलैंड के लिए बोल्ट ने 38 रन, मैट हैनरी ने 59 रन और मिशेल सैंटनर ने 60 रन देकर तीन तीन विकेट चटकाए। साहा को मैन ऑफ द मैच चुना गया। तीसरा और अंतिम टेस्ट आठ अक्टूबर से इंदौर में होगा।

READ  क्या जीएसटी जेब पर पड़ेगा भारी या देगा राहत