देबदुलाल पहाड़ी।

विश्व की सबसे बड़ी मानवतावादी संस्था लायंस क्लब इंटरनेशनल ने 20 नवंबर को देशभर में कई जगहों पर एक साथ एक लाख से अधिक लोगों को मधुमेह के प्रति जागरूक कर गिनीज बुक में स्‍थान बनाया है। यह जानकारी देते हुए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की प्रतिनिधि स्वपनिल डांगारीकर ने प्रमाण पत्र जारी किया।

मीडिया को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, “गवाह,  विवरण,  फार्म, वीडियो, लेखा परीक्षकों की रिपोर्ट, आधिकारिक सर्वेक्षण के मुताबिक भारत के लायंस क्लब ने नया रिकॉर्ड हासिल किया है जो देश भर में बीस हजार से अधिक लोगों ने (जो अभी भी गिनीज द्वारा गिना जा रहा है) एक ही समय में मधुमेह सबक में भाग लिया है।”

लायंस क्लब के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. नरेश अग्रवाल ने कहा कि इन शिविरों की विशेषता यह थी कि यह एक ही दिन एक ही समय भारत के विभिन्न राज्यों में 100 से अधिक जगहों पर किया गया था जो कि अनोखा है।

अग्रवाल ने कहा, “हमारे शिविरों और जागरूकता के जरिये दस लाख से ज्यादा लोगों को लाभ हुआ है। अधिकांश लोगों को पता नहीं है कि वे रोगी हैं और उनके पास समस्याएं हैं। उचित इलाज, रोकथाम और जागरूकता से मधुमेह रोका जा सकता है।”

लायंस क्लब के संरक्षक डॉ. जगदीश गुलाटी ने कहा, “ गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के सख्त दिशा-निर्देशों के तहत यह कार्यक्रम पूरा हुआ।“ इस मौके पर अरुणा अभय ओसवाल, अंतरराष्ट्रीय निदेशक, विजयकुमार राजू बागेश, वी के लूथरा, अंतरराष्ट्रीय निदेशक, अभियोजक, पूर्व अंतरराष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष विनोद खन्ना भी उपस्थित थे।

READ  अब किसी के मोहताज नहीं दिव्यांग