त्योहारी सीजन में क्‍यों लुढ़के सोना-चांदी

नई दिल्ली। त्‍योहारी सीजन में सोना-चांदी के दाम में रिकॉर्ड गिरावट दर्ज की गई है। विदेशी बाजारों में पीली धातु में मंगलवार को 3 साल की सबसे ज्‍यादा गिरावट के कारण बुधवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 730 रुपये लुढ़ककर 3 महीने से अधिक के निचले स्तर 30, 520 रुपये प्रति दस ग्राम पर आ गया। चांदी भी 1,750 रुपये की बड़ी गिरावट के बाद करीब 9 सप्ताह के निचले स्तर पर 43, 250 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। विश्‍लेषकों के अनुसार अमेरिका में डॉलर के कमजोर होने और चीन में राष्ट्रीय दिवस के अवकाश के कारण बाजार बंद रहने से हाजिर मांग भी प्रभावित हुई।

लंदन एवं न्यूयॉर्क से प्राप्त जानकारी के अनुसार, सोना हाजिर पिछले दिवस 3 फीसदी से ज्यादा का गोता लगाकर 1,270 डॉलर से नीचे इस साल 24 जून के बाद के निचले स्तर तक उतर गया। यह सितंबर 2013 के बाद की सबसे बड़ी गिरावट है। हालांकि,  बुधवार को इसने थोड़ी वापसी की और 4.5 डॉलर बढ़कर 1,272.30 डॉलर प्रति औंस पर रहा। अमरीकी सोना वायदा भी मंगलवार को 3 प्रतिशत से ज्यादा लुढ़कने के बाद 4.4 डॉलर चढ़कर 1,274.10 डॉलर प्रति औंस बोला गया।

विश्लेषकों के अनुसार,  अमेरिका में कारखानों की गतिविधियां तेज होने के बाद भी डॉलर में गिरावट देखी गई। प्रमुख मुद्राओं के बास्केट में डॉलर 0.1 फीसदी कमजोर हो गया। इसके अलावा चीन में राष्ट्रीय दिवस के अवकाश के कारण बाजार बंद रहने से हाजिर मांग भी प्रभावित हुई। इससे इनकी कीमतों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ा।

यदि अमेरिका में इस सप्ताह गैर-कृषि क्षेत्र के रोजगार आंकड़े मजबूत आए तो कीमती धातुओं में आगे और गिरावट देखी जा सकती है। इस बीच, लंदन में चांदी 0.17 डॉलर ऊपर 17.94 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गई। पिछले कारोबारी दिवस इसमें जनवरी 2015 के बाद की सबसे बड़ी एकदिनी गिरावट रही थी।

×