केन्द्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय ने पहली अंतरराष्ट्रीय मेगा इवेंट का आयोजन किया। इस इवेंट वर्ल्ड फूड इंडिया 2017 का आयोजन 3-5 नवंबर नई दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में किया गया है। उद्घाटन पीएम मोदी करेंगे। इस मौके पर प्रधानमंत्री व सीईओ और वित्त मंत्री अरुण जेटली व सीईओ के गोलमेज सम्मेलन का आयोजन किया गया है। इस विश्व खाद्य शिखर सम्मेलन में खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों में समझौतों के जरिये 10 अरब डॉलर से अधिक का निवेश होगा। केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल के मुताबिक, इन निवेश से 10 लाख नौकरियां पैदा होने की उम्मीद है।

मेगा इवेंट के साथी राज्य आंध्र प्रदेश, हरियाणा, झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, तेलंगाना, महाराष्ट्र, पंजाब, राजस्थान, असम, गुजरात और तमिलनाडु हैं। फोकस स्टेट हैं-कर्नाटक, केरल, ओडिशा, हिमाचल प्रदेश, पश्चिम बंगाल, उत्तराखंड, बिहार। पूर्वोत्तर के राज्यों असम, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, सिक्किम और त्रिपुरा को डोनेर मंडप में फोकस किया गया है।

सभी घरेलू खाद्य प्रसंस्करण कंपनियों के सीईओ भी इस मेगा इवेंट में भाग लेंगे। कार्यक्रम में 30 देशों की 200 से अधिक कंपनियां, 18 मंत्री और व्यावसायिक प्रतिनिधिमंडलों व 50 वैश्विक मुख्य कार्यकारी अधिकारी भाग ले रहे हैं। जर्मनी, जापान और डेनमार्क ‘साथी देश’ हैं जबकि इटली और नीदरलैंड ‘फोकस देश’ हैं।

विशेष आकर्षण फूड स्ट्रीट है जिसका शेफ संजीव कपूर को ब्रांड अंबेसडर बनाया गया है। महिला उद्यमियों और किसान उत्पादक संगठनों पर विशेष फोकस को प्राथमिकता दी गई है।
—देब दुलाल पहाड़ी

READ  उन्ही की आह बेअसर, उन्हीं की लाश बेकफ़न