अजय विद्युत

यह चुटकुला आपका देखा-पढ़ा हो सकता है कि मेरी बीवी के बाद अगर किसी को सब कुछ पता है तो वह गूगल है। गूगल दुनिया पर छाया हुआ है अपनी तीन खूबियों की वजह से। एक-गूगल सर्च इंजन। दो- जीमेल। और तीन- एंड्रॉयड। तो अभी मोबाइल फोन ओएस एंड्रॉयड की बात करते हैं।

अगर आपने नया मोबाइल फोन लिया है तो उसमें एंड्रॉयड सिस्टम भी लेटेस्ट ही होगा। अभी नया नवेला एंड्रॉयड वर्जन है : एंड्रॉयड एम- मार्शमैलो। मार्शमैलो माने क्या? गूगल पर सर्च कीजिए! हमने सर्च किया तो पता चला कि मार्शमैलो चीनी की एक मीठी कैंडी होती है। यह मक्का के स्टॉर्च में लिपटी हुई और छोटे बेलनाकार टुकड़ों में होती है।

नए एंड्रॉयड मार्शमैलो ओएस में कई नए एडवांस्ड फीचर्स दिए गए हैं। इस ओएस को अब तक आए सभी एंड्रॉयड ओएस से ज्यादा बेहतर माना जा रहा है। और जो इससे भी एडवांस्ड ओएस आनेवाला है वह होगा एंड्रॉयड एन  जिसका नामकरण अभी नहीं हुआ है।

दरअसल 2008 में जब गूगल ने एंड्रॉयड का पहला संस्करण ‘कपकेक’ बाजार में उतारा तभी से यह तय था कि इसके आगे उन्नत (अपग्रेड) संस्करण और उनके नाम अंग्रेजी वर्णाक्षर क्रम में होंगे। आप खुद देखिए। सी- कपकेक, डी- डोनट, ई- एक्लेयर, एफ- फ्रायो, जी- जिंजरब्रेड, एच- हनीकांब, आई- आइसक्रीम सैंडविच, जे- जेलीबीन, के- किटकैट, एल- लॉलीपॉप और एम- मार्शमैलो।

एक मजेदार बात यह कि गूगल हमेशा अपने एंड्रॉयड आॅपरेटिंग सिस्टम के नाम किसी मीठी चीज (केक पेस्ट्री) के नाम पर रखता है जैसा कि आप कपकेक से लेकर मार्शमैलो तक देख ही रहे हैं।

READ  व्हाट्सऐप्प पर एक साथ भेजें सैंकड़ों लोगों को संदेश

भारतीय मिठाई बनेगी ‘एन’

भारतीय मूल के गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई पिछले साल दिसंबर में भारत आए थे। आईआईटी चेन्नई में उन्होंने कहा था कि अगले एंड्रॉयड वर्जन ‘एन’ का नाम किसी इंडियन स्वीट के नाम पर रखा जा सकता है। इसके लिए उन्होंने सुझाव भी मांगे और कहा कि नाम आॅनलाइन पोल के जरिये चुना जाएगा।

इसी के बाद केरल के लोगों ने नए एंड्रॉयड वर्जन का नाम मलयाली मिठाई ‘नयप्पम’ पर रखने के लिए सोशल मीडिया पर मुहिम शुरू कर दी है। इसे काफी पसंद किया जा रहा है और भारी समर्थन मिल रहा है। गूगल ने एंड्रॉयड की आॅफिशियल वेबसाइट पर इस नाम को भी शेयर किया है।

दरअसल सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव मलयाली लोगों को इस प्लेटफॉर्म के बेहतरीन उपयोग के लिए जाना जाता है। कुछ समय पहले टेनिस स्टार मारिया शारापोवा ने क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर पर टिप्पणी कर दी थी तो मलयालियों ने मारिया के आॅफिशियल पेज पर जमकर अटैक किया था। इसीलिए ‘नयप्पम’ को लेकर सोशल मीडिया पर उनका कैम्पेन जोरशोर से चल रहा है। अगर नयप्पम एंड्रॉयड के नए वर्जन का नाम रखा जाता है तो यह पहला मौका होगा जब किसी भारतीय मिठाई के नाम पर इस ओएस के किसी संस्करण का नामकरण होगा।

इससे केरल की दुनियाभर में एक पहचान भी जाहिर होगी। खासकर टूरिज्म इंडस्ट्री को इससे काफी फायदा हो सकता है। केरल टूरिज्म मिनिस्ट्री ने तो अपने ट्विटर पेज पर इसके लिए बाकायदा पोल तक चला दिया है। इसमें नयप्पम नाम को अगला एंड्रॉयड वर्जन बनाने के बारे में वोटिंग कराई जा रही है। लोग खूब उत्साहित हैं और जमकर वोटिंग कर रहे हैं।