न्यूयॉर्क।

परमाणु युद्ध की आशंकाओं के बीच अमेरिका पर आतंकी हमला हो गया है। न्यूयॉर्क के लोअर मैनहटन में एक ट्रक ड्राइवर ने पैदल चलने वालों और साइकिल लेन में चल रहे लोगों को रौंद दिया जिसमें आठ लोगों की जान चली गई। इनमें एक बेल्जियम और 5 अर्जेंटीना के नागरिक हैं। इस घटना में 12 अन्‍य घायल हुए हैं। अधिकारियों ने इसे आतंकवादी हमला बताया है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हमले की निंदा करते हुए ट्वीट किया, ‘न्यूयॉर्क में एक बीमार किस्म के आदमी ने हमला किया,  सुरक्षा एजेंसियां इस पर अपनी नजरें बनाए हुए हैं।’ ट्रंप ने ट्वीट किया, ‘मिडिल ईस्ट में हराने के बाद अब ISIS को वापस नहीं आने देंगे और न ही अमेरिका में घुसने देंगे।’ राष्ट्रपति ट्रंप ने हमले में मारे गए लोगों के प्रति अपनी संवेदना भी जाहिर की है।

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने न्यूयॉर्क आतंकी हमले की आलोचना करते हुए ट्वीट किया कि उनकी संवेदनाएं हमले में मारे गए लोगों के परिजनों के साथ हैं। उन्होंने घायलों के जल्दी स्वस्थ होने की कामना की। हमले में किसी भारतीय के हताहत होने की खबर नहीं है।

पुलिस ने संदिग्ध को हिरासत में ले लिया है। वह उज्बेकिस्तान का नागरिक बताया जा रहा है। उसके पास से दो नकली बंदूक भी बरामद हुई हैं। वह उबर के लिए ड्राइवर के रूप में काम कर रहा था। न्यूयॉर्क के पुलिस आयुक्त जेम्स.ओ. नील ने बताया कि उक्त 29 वर्षीय ट्रक ड्राइवर जब भागने की कोशिश कर रहा था तो पुलिस ने उसके पेट में गोली मारी और उसे हिरासत में ले लिया।

READ  क्‍या इन विमानों से डरेगा उत्‍तरी कोरिया 

हमलावर ने स्कूल बस को भी टक्कर मार दी जिसमें दो बच्चे और दो व्यस्क घायल हो गए। आठ में से छह लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई और दो अन्य लोगों ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।

यह आतंकी हमला अमेरिका के न्यूयॉर्क में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर मेमोरियल नजदीक लोअर मैनहट्टन में हुआ है। मंगलवार को दोपहर एक ट्रक सवार ने साइकिल और पैदल पथ पर लोगों को रौंदना शुरू कर दिया। न्यूयॉर्क पुलिस ने इलाके को कब्जे में लेकर मामले की जांच शुरू कर दी है। अमेरिका ने इसे आतंकी हमला करार दिया है।

मैनहट्टन इलाके में बड़ी संख्या में विदेशी सैलानी आए हुए हैं। भीड़-भाड़ वाले समय में अचानक ट्रक साइकिल और पैदल लेन में लोगों को रौंदता हुआ आगे बढ़ने लगा। ट्रक ने अपनी चपेट में एक स्कूल बस को भी ले लिया जिसमें तीन बच्चे सवार थे। व्हाइट हाउस के प्रवक्ता ने बताया कि राष्ट्रपति ट्रंप को इस घटना की जानकारी दे दी गई है और लगातार उन्हें इसका विस्तृत ब्यौरा दिया जा रहा है।