अभिषेक रंजन सिंह, नई दिल्ली। बिहार में राजद और कांग्रेस से गठबंधन तोड़कर भाजपा से मिलकर सरकार बनाने से जदयू में कई नेता नाखुश हैं। नीतीश कुमार के इस फैसले से सांसद अली अनवर ने पहले असहमति जताई थी। वहीं अब शरद यादव भी कुमार के फैसले से नाखुश हैं। इस बाबत उन्होंने अपने घर पर जदयू के उन नेताओं से मीटिंग कर रहे हैं, जो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के फैसले से असहमत हैं।

खबर है कि शरद यादव और अली अनवर अपनी अलग राह भी पकड़ सकते हैं। वहीं ऐसी भी खबरें हैं कि जदयू के दो सांसद केंद्र में मंत्री भी बनाए जा सकते हैं। हालांकि इस बारे में अभी तक कोई अधिकृत बयान भाजपा और जदयू की तरफ से नहीं आया है। केरल जदयू इकाई में भी नीतीश के इस फैसले से मायूसी है।

उल्लेखनीय है कि कल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सभी को चौंकाते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। उनके मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे के तुरंत बाद भाजपा ने भी अपने विधायकों के समर्थन की सूची राज्यपाल को सौंप दी। आज सुबह भाजपा के सहयोग से नीतीश कुमार बिहार में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने भी उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

READ  सड़क से संसद तक सिर्फ़ मोदी