विशेष संवाददाता ।
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रविवार को मुलायम सिंह यादव के बिना ही समाजवादी पार्टी का घोषणापत्र जारी कर दिया। मंच पर अखिलेश यादव और डिंपल यादव थीं लेकिन मुलायम सिंह यादव नहीं आए। अखिलेश ने पार्टी का चुनाव घोषणापत्र जारी किया जिसमें महिलाओं, अल्पसंख्यकों, बुजुर्गों युवाओं, किसानों और गरीबों के लिए तमाम लोक लुभावन तोहफे हैं और उनका वादा है कि उत्तर प्रदेश में समाजवादी सरकार फिर से बनी तो संतुलित विकास के मॉडल को आगे बढाया जाएगा।
यूपी चुनाव 2017 के लिए समाजवादी पार्टी के घोषणापत्र के मुख्‍य वादे-
akhilesh-yadav

  • पिछले पांच सालों में लाखों लोगों को नौकरी दी.
  • सरकारी स्‍कूलों में शिक्षा का स्‍तर सुधारा जाएगा.
  • प्राइमरी शिक्षा के लिए कई काम हुए.
  • बताओे ये पत्‍थर वाली सरकार कितने काम गिनाएगी?
  • कार्यकर्ताओं के लिए हमारा काम बताना आसान.
  • नोएडा, लखनऊ में लगे पत्‍थर बताते हैं कि अगर सरकार बनी तो बड़े-बड़े हाथी लगा दिए जाएंगे.
  • हमारी योजना लोगों को लाभ पहुंचाने वाली हैं.
  • पत्‍थर वाली सरकार टीवी पर बहुत आ रही है.
  • समाजवादी लोगों से किसी का मुकाबला नहीं, क्‍योंकि वे सबसे आगे हैं.
  • सपा की सरकार बनने जा रही है.
  • हमने अच्‍छे, बुरे जितने भी तरह के दिन होते हैं, देख लिए.
  • केंद्र के अच्‍छे दिन का अब भी इंतजार.
  • यूपी की जनता सपा में भरोसा करती है.
  • हम आपको भरोसा दिलाते हैं कि संतुलित विकास के रास्‍ते पर आगे बढ़ेंगे.
  • दोबारा भरोसा मिला तो यूपी का तेजी से विकास करेंगे.
  • हम समाजवादियों को दोबारा बहुमत दीजिए.
  • 2012 के घोषणा पत्र को गंभीरता से लागू किया.
  • लैपटॉप, कन्‍या विद्या धन, पूर्वांचल एक्‍सप्रेस-वे, 1090 वुमेन पावर लाईन, लोहिया आवास सरीखी योजनाअों को और अध्‍ािक मजबूरी से चलाएंगे.
  • सपा किसान कोष से किसानों की कई समस्‍याओं का समाधान किया जाएगा. किसानों को सुविधा देने पर जोर.
  • यूपी के हर गांव में लैपटॉप पहुंच गया है.
  • आने वाले वक्‍त में सरकार और लोगों को सीधा जोड़ेंगे.
  • गरीबों के लिए समाजवादी निधि.
  • 1 करोड़ 40 लाख लोगों ने रजिस्‍ट्रेशन किया, अगर यही वोट दे दें, तो सपा 300 से ज्‍यादा सीट लाकर विजयी होगी.
  • आने वाले वक्‍त में सपा एक करोड़ लोगों को मासिक पेंशन देगी.
  • गरीबों को निशुल्‍क गेंहू दिया जाएगा.
  • गरीब महिलाओं को प्रेशर कुकर दिए जांएगे.
  • वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए ओल्‍ड ऐज होम बनाए जाएंगे.
  • समाजवादी स्‍मार्ट फोन देने की योजना.
  • अल्‍पसंख्‍कों के लिए कई योजनाएं लाएंगे.
  • आगरा, कानपुर, मेरठ में भी मेट्रो.
  • बचे हुए गांवों में जल्‍द बिजली देंगे.
  • गांवों में भी 24 घंटे बिजली देने का काम शुरू करेंगे.
  • किसान के बीमार जानवरों के लिए भी एंबुलेंस की व्‍यवस्‍था करेंगे. गरीब किसान का जानवर बीमार हुआ तो एंबुलेंस में डॉक्टर बैठकर आएंगे.
  • कामकाजी महिलाओं के लिए हॉस्‍टल.
  •  लैपटॉप के साथ ही पढ़ाई में तेज छात्रों को स्मार्ट फोन भी देंगे.
  • अगली बार सरकार आएगी तो मेट्रो से ही बजट पेश करने का मौका मिलेगा.
  • महिलाओं को रोडवेज की बसों में आधा किराया देना होगा.
  • स्टार्टअप योजना लागू करेगी समाजवादी सरकार.
  • भूतपूर्व सैनिकों के लिए सैनिक कल्‍याण निगम को अध्‍ािक प्रभावी बनाया जाएगा.
  • ट्रैफिक के स्थायी समाधान के लिए होगी व्यवस्था.
  • मजदूरों के लिए रियायती दर पर खाना.
  • आने वाले समय में कोई जिला नहीं बचेगा जो फोरलेन से नहीं जुड़ा होगा.
  • कुपोषित बच्चों को 1 किलोग्राम घी और 1 डिब्बा दूध पाउडर हर महीने दिया जाएगा.
  • एयरपोर्ट पर एयर एम्बुलेंस की व्यवस्था की जाएगी.
  • चौकीदारों और पीआरडी जवानों का मानदेय बढ़ेगा.
READ  राजनीति की विषकन्याएं

अखिलेश के घोषणापत्र में क्या-क्या है विस्तार से पढें
उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के लिए सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में अपनी पार्टी का चुनाव घोषणापत्र जारी करते हुए अखिलेश ने कहा, ‘स्मार्ट फोन योजना के तहत जिस हिसाब से हुआ है, अगर उन्हीं लोगों ने वोट दे दिया तो समाजवादी लोग 300 सीटें जीतकर सरकार बना लेंगें। स्मार्ट फोन के लिए एक करोड 40 लाख लोगों ने पंजीकरण किया है।’ पूर्व सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव इस मौके पर मौजूद नहीं थे। मुख्यमंत्री ने सपा के वरिष्ठ नेताओं, अपनी सरकार के मंत्रियों, सांसदों, विधायकों और कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में कहा, ‘प्रदेश के एक करोड़ लोगों को हर महीने 1000 रुपये पेंशन देंगे और अत्यंत गरीबों को नि:शुल्क गेहूं और चावल वितरित किया जाएगा। घरेलू कामगारों और असंगठित मजदूरों के लिए विशेष योजना चालू होगी।’ अखिलेश ने कहा कि गरीब महिलाओं को प्रेशर कुकर दिये जाएंगे ताकि वे कम समय में खाना बना सकें। अल्पसंख्यकों की धार्मिक आजादी और सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाएगा। विकास में उनकी भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए विशेष योजनाएं चलायी जाएंगी। कौशल विकास का ध्यान रखा जाएगा तथा जरदोजी और चिकनकारी को प्रोत्साहित करेंगे।
अखिलेश ने कहा कि राज्य के वरिष्ठ नागरिकों के लिए ‘ओल्ड एज होम’ बनाये जाएंगे। कौशल विकास, स्वरोजगार और उद्यमिता के कार्यक्रम लागू किये जाएंगे। कामकाजी महिलाओं के लिए हॉस्टल बनाने के अलावा रोडवेज बस में सफर करने वाली महिलाओं का किराया आधा कर दिया जाएगा। अखिलेश ने कहा कि मजदूरों को रियायती दर पर ‘मिड डे मील’ दिया जाएगा। ‘आईजीसीएल’ की भांति अन्य ‘लोगों’ को प्रोत्साहन दिया जाएगा। समाजवादी स्पोटर्स स्कूलों की स्थापना होगी और 1.50 लाख रुपये से कम सालाना आय के लोगों के लिए मुफ्त इलाज की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने कहा कि आगरा, कानपुर, मेरठ और वाराणसी में मेट्रो सेवा शुरू की जाएगी। लखनऊ हवाईअड्डे पर एयर एंबुलेंस का इंतजाम किया जाएगा।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनके नेतृत्व वाली केन्द्र की भाजपा सरकार पर तंज कसते हुए अखिलेश ने कहा, ‘जिन्होंने अच्छे दिन का नारा दिया। सबका साथ सबका विकास की बात कही। अब तो तीन साल हो रहे हैं। चुनाव आ रहा है तो हो सकता है कि बजट में कुछ नयी चीजें दे दें लेकिन उत्तर प्रदेश की जनता खोज रही है कि विकास कहां है। विकास के बहाने कभी झाडू पकड़ा दी तो कभी योग करा दिया। बहाने कैसे कैसे चल रहे हैं।’ उन्होंने कहा, ‘हमसे पूछो कि क्या काम किया है। हम हर जिले का बता सकते हैं। प्रदेश का कोई ऐसा जिला नहीं बचा, जहां बड़ा काम नहीं हुआ हो। गांवों को 16 से 18 घंटे बिजली दी। 108, 102 एंबुलेंस सेवा शुरू कर दी। दुनिया के बेहतरीन इंतजाम में 100 नंबर पुलिस सेवा शुरू की। लखनउ-आगरा एक्सप्रेसवे के रूप में अंतरराष्ट्रीय स्तर की सडक बनायी।’
बसपा सुप्रीमो मायावती पर कटाक्ष करते हुए अखिलेश ने कहा, ‘आजकल पत्थर वाली सरकार के लोग टीवी पर बहुत दिखाई देते हैं। नोएडा और लखनऊ में लगे पत्थर याद दिलाते हैं कि अगर उनकी (बसपा) सरकार बनी और मौका मिला तो इससे बड़े हाथी लगा दिये जाएंगे।’ उन्होंने दावा किया कि सपा ने 2012 के घोषणापत्र को गंभीरता से लागू किया है। घोषणापत्र से आगे बढ़कर संतुलित विकास का मॉडल लागू किया। विकास और कल्याण का संतुलन रखना घोषणापत्र में हमारी प्राथमिकता है। लैपटाप, कन्या विद्याधन, पूर्वांचल एक्सप्रेसवे, 102 और 108 एंबुलेंस, 1090 वूमेन पावर लाइन, यूपी 100, समाजवादी पेंशन, लोहिया आवास, जनेश्वर मिश्रा ग्राम विकास इत्यादि को ओर अधिक मजबूती से चलाया जाएगा।

READ  सांसदों के रिटायरमेंट पर बोले पीएम, मेरे दरवाजे आपके लिए हमेशा खुले हैं

अखिलेश ने कहा, ‘सभी (सपा) प्रत्याशियों से कहा गया कि वे अपने विधानसभा क्षेत्र के विकास का रोडमैप बनायें, जिसे सपा सरकार अगले 5 साल में लागू करेगी।’ उन्होंने कहा कि समाजवादी किसान कोष बनाया जाएगा, जिससे किसानों को राहत मिलेगी और समस्याओं का समाधान होगा। अखिलेश ने कहा, ‘खुशी इस बात की है कि उत्तर प्रदेश में कोई ऐसा गांव नहीं बचा, जहां लैपटाप ना पहुंच गया हो। कम से कम जो लोग (मोदी) डिजिटल इंडिया का सपना दिखा रहे हैं, हम उनसे पूछना चाहते हैं कि डिजिटल इंडिया के तहत कौन सा कदम उठाया। कैशलेस इकानामी और जब फोन से बैंकिंग हो सकती है तो समाजवादी लैपटाप से बैंकिंग क्यों नहीं हो सकती।’

mulayam...कार्यक्रम के बाद मुलायम से मिलने पहुँचे अखिलेश 
घोषणापत्र के कार्यक्रम में मुलायम सिंह यादव नहीं पहुंचे थे। उन्हें मनाने के लिए सीएम अखिलेश ने आजम खान को कार्यक्रम के बीच में ही भेज दिया था लेकिन काफी कोशिश करने के बाद भी मुलायम कार्यक्रम में शरीक होने नहीं पहुंचे। माना जा रहा है कि मुलायम सिंह यादव अपने करीबियों को टिकट नहीं दिए जाने से परेशान हैं। अंबिका चौधरी के समाजवादी पार्टी छोड़ देने और अन्य कई नेताओं को किनारे लगाने के अखिलेश के फैसले का वह अपने ढंग से विरोध कर रहे हैं।
चुनाव घोषणा पत्र जारी करने के बाद अखिलेश यादव सीधे सपा के संरक्षक मुलायम सिंह से मिलने उनके आवास पहुंच गए उनके साथ आज़म खान भी थे । अखिलेश ने मुलायम को सपा का घोषणापत्र सौंपा और पढ़कर सुनाया । सूत्रों का कहना है अखिलेश ने मुलायम से कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर चल रही बातचीत पर भी मशविरा किया ।