नई दिल्‍ली।  

सीएम योगी आदित्यनाथ ने भाजपा की घोषणा के अनुरूप इलाहाबाद में स्लॉटर हाउस (बूचड़खानों) को बंद करा दिया है। इलाहाबाद नगर निगम प्रशासन ने रविवार रात करेली पुलिस की मौजूदगी में अटाला और नैनी के चकदोंदी मोहल्ले में चल रहे स्लॉटर हाउस को सील कर दिया। शहर में अटाला के साथ रामबाग और नैनी के स्लॉटर हाउस को बंद करने का आदेश एनजीटी पहले ही दे चुका है।

विधान सभा चुनाव के दौरान बीजेपी ने अवैध रूप से मानक के विपरीत चल रहे स्लॉटर हाउस को सरकार बनते ही बंद कराने की घोषणा की थी। इसी कड़ी में शपथ लेने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने स्लॉटर हाउस को बंद कराने के एलान को पूरा करने के अपने कमिटमेंट को पूरा किया।

लखनऊ में बैठकों का दौर जारी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुबह से प्रदेश के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कई दौर की बातचीत की। शपथ ग्रहण के बाद से ही वह एक्शन मोड में आ चुके हैं। योगी ने कार्यभार संभालने के बाद मंत्रियों से मुलाकात की और सोमवार सुबह प्रदेश के डीजीपी और अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के साथ लगातार बैठकों का दौर जारी है। योगी ने प्रदेश की कानून व्यवस्था सुधारने के लिए हर कोशिश करने की बात कही है।

वीवीआईपी गेस्ट हाउस में ठहरे योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को पहले राज्य के डीजीपी जावीद अहमद के साथ मीटिंग की। इसके बाद गृह सचिव देबाशीष पंडा और चीफ सेक्रेटरी राहुल भटनागर भी उनसे मिलने पहुंचे। इनके बीच भी काफी देर तक बैठक चली। प्रिंसिपल सेक्रेटरी नवनीत सहगल भी सुबह वीवीआईपी गेस्ट हाउस में सीएम योगी से मुलाकात करने पहुंचे। योगी कैबिनेट में शामिल श्रीकांत शर्मा ने कहा, ‘प्रदेश में कानून-व्यवस्था बड़ा मुद्दा है। श्रीकांत शर्मा और सिद्धार्थ नाथ सिंह को सीएम योगी ने सरकार के कामकाज की ब्रीफिंग के लिए नियुक्त किया है।Yogi Police

READ  वादा पूरा,  कर्ज माफ

दिलाई ईमानदारी की शपथ, मांगा संपत्ति का ब्योरा

उत्तर प्रदेश सरकार का कामकाज संभालने के बाद सोमवार को योगी आदित्यनाथ सरकार के पहले दिन आदित्यनाथ ने सभी अधिकारियों को खड़े होकर शपथ दिलाई। सभी अधिकारियों को को ईमानदारी स्वच्छता और स्पष्टता की शपथ दिलाई। आगे के रोड मैप के बारे में सभी अधिकारियों से चर्चा की। आदित्यनाथ ने सभी को अपनी सम्पत्तियों का ब्योरा देने के लिए कहा। सभी अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे 15 दिनों के भीतर अपनी चल, अचल संपत्ति और आयकर का ब्योरा दें।

कैबिनेट की पहली बैठक में जिन-जिन वायदों को लागू करना है उनके बारे में पूरा ब्योरा और तैयारी का तरीका तैयार करने को कहा गया है। सभी विभागों में अब तक किए गए कार्यों की समीक्षा रिपोर्ट तैयार करने को कहा गया है। इससे पहले लखनऊ के गेस्ट हाउस में सीएम योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा के बीच मंत्रियों के विभागों के बंटवारे के लिए बैठक हुई। बताया जा रहा है कि ह्रदयनाथ नारायण दीक्षित को विधानसभा का स्पीकर बनाया जा सकता है तो दोनों डिप्टी सीएम को वित्त और गृह विभाग मिल सकता है।

मुख्यमंत्री आवास का शुद्धिकरण

इससे पहले पांच कालिदास मार्ग पर मुख्यमंत्री के सरकारी आवास की नेम प्लेट भी बदल गई है लेकिन योगी अभी वहां शिफ्ट नहीं हुए हैं। मुख्यमंत्री आवास में योगी के गृह प्रवेश से पहले उसका शुद्धीकरण किया जाएगा। आवास में पहले पूजा-हवन और रुद्राभिषेक करने की भी तैयारी की गई है।