अभिषेक रंजन सिंह। पटना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल की अहम बैठक खत्म होने के बाद लालू यादव के बेटे और बिहार के उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा है। पत्रकारों से खास बातचीत में डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर पलटवार करते हुए कहा कि साल 2004 में उनकी उम्र कम थी, लिहाजा इस उम्र में घोटाला करने का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता है।

उनके मुताबिक, जिस कथित घोटाले में उनके शामिल होने की बात बताई जा रही है उस वक्त तो वह बच्चा थे। तेजस्वी ने कहा कि जब उन्होंने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी तब उन्होंने भ्रष्टाचार को खत्म करने की कमस खाई थी। अब तक उनके तीन मंत्रालयों पर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं है। तेजस्वी यादव यहीं नहीं रूके, उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर राजनीतिक साजिश का हिस्सा है जिसके पीछे उन्होंने नरेंद्र मोदी और अमित शाह का हाथ बताया।

तेजस्वी के अनुसार, भाजपा के बड़े नेता बिहार में महागठबंधन तोड़ने की कोशिशों में जुटे हैं। उन्हें लगता है कि महागठबंधन का सफल प्रयोग भाजपा के लिए परेशानी खड़ी कर सकती है। इसलिए केंद्र सरकार के इशारे पर सीबीआई का गलत इस्तेमाल उनके परिवार के खिलाफ किया जा रहा है। तेजस्वी के अनुसार, भाजपा चाहे जितनी कोशिश करे, लेकिन महागठबंधन को तोड़ने में वह सफल नहीं होगी। महागठबंधन चट्टान की तरह मजबूत है और आने वाले समय में कई राज्यों में इस तरह का महागठबंधन बनेगा।

READ  पाताल भुवनेश्वर गुफा में ऑक्सीजन बहुत कम, श्रद्धालुओं को परेशानी