अभिषेक रंजन सिंह, नई दिल्ली।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार को अयोध्या पहुंच चुके हैं। अपने आठ घंटे तय कार्यक्रमों में फैजाबाद से अयोध्या और अयोध्या से फैजाबाद वह दो बार आएंगे। साढ़े नौ बजे अयोध्या पहुंचने के बाद मुख्यमंत्री ने सबसे पहले हनुमानगढ़ी में पूजा-अर्चना की। उनके आगमन पर पूरे अयोध्या में उनका भव्य स्वागत किया गया।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी का अयोध्या आगमन ऐसे वक्त हुआ है, जब कल ही भाजपा के तीन वरिष्ठ नेताओं लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और केंद्रीय मंत्री उमा भारती के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने आपराधिक साजिश रचने के आरोप में मुकदमा चलाने का आदेश दिया। बतौर मुख्यमंत्री योगी पहली बार अयोध्या आए हैं। इससे पहले डेढ़ दशक पूर्व राजनाथ सिंह मुख्यमंत्री रहते हुए अयोध्या आए और रामलला के दर्शन किए।

अयोध्या पहुंचने पर मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि रामजन्मभूमि करोड़ों भारतीयों के आस्था का विषय है। अच्छा होगा कि इस समस्या का समाधान बातचीत से निकले। महंत नृत्यगोपाल दास के जन्मदिन समारोह में पहुंचे मुख्यमंत्री योगी ने श्रद्धालुओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा क‌ि अयोध्या आना उनके लिए सौभाग्य है। इस मौके पर उन्होंने अयोध्या के विकास के लिए करोड़ों रुपये की योजनाओं की घोषणा भी की।
वैसे सियासी हलकों में मुख्यमंत्री योगी के अयोध्या आगमन के कई मतलब निकाले जा रहे हैं। माना जा रहा है कि वह आने वाले दिनों में अयोध्या से विधानसभा का चुनाव भी लड़ सकते हैं। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री बनने से पहले योगी आदित्यनाथ गोरखपुर से सांसद हैं। छह महीने के भीतर उन्हें विधानसभा या विधान परिषद से चुनकर आना होगा।

READ  असम में चल रही परिवर्तन की लहर -सोनोवाल