मायावती ने भाजपा व सपा पर बोला हमला

ओपिनियन पोस्ट
Mon, 07 Nov, 2016 18:50 PM IST

नई दिल्ली। बसपा प्रमुख मायावती ने प्रेस कांफ्रेंस बुला कर भाजपा और सपा पर हमला बोला है। उन्‍होंने कहा कि जनता उनके बहकावे में न आए। भाजपा की परिवर्तन यात्रा ड्रामा है। हमारे कार्यकाल में विकास का काम हुआ।

मायावती ने अखिलेश यादव की रथ यात्रा पर कहा कि रथ यात्रा एक नौटंकी है। उसके लिए भीड़ जुटानी पड़ी। समाजवादी पार्टी की सरकार ने काम किया होता तो उन्हें खोखली रथयात्रा नहीं निकालनी पड़ती। प्रदेश की जनता को गाड़ी नहीं, रोजी-रोटी और काम चाहिए।

उन्‍होंने कहा कि भाजपा ने लोगों को सब्जबाग दिखाए थे कि काला धन वापस ला कर लोगों को लाखों रुपये बांटेगी। अब उन वादों से ध्यान हटाने की कोशिश की जा रही है। मुलायम सिंह के परिवार में भयंकर कलह है और उनका सबसे भरोसेमंद यादव वोट बैंक ही दो टुकड़ों में बंट चुका है।

उन्‍होंने कहा कि शिवपाल यादव के लोग अखिलेश के लोगों को और अखिलेश के लोग शिवपाल के उम्मीदवारों को हराने की कोशिश करेंगे। इसलिए समाजवादी पार्टी का चुनाव में जीत का कोई सवाल ही नहीं पैदा होता।

प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए मायावती ने कहा कि मोदी जी ने किसानों के साथ धोखा किया है। गन्ने के बकाया मूल्य को दिलाने का झूठा वादा किया। ये किसान विरोधी सरकार है। वह भूमि अधिग्रहण बिल लाने वाली थी, जिसे विरोध की वजह से वापस लेना पड़ा। भाजपा के नेता उत्तर प्रदेश में हवा हवाई बयान दे रहे हैं और उनका मुंहतोड़ जवाब देना चाहती हूं।

कांग्रेस के साथ समाजवादी पार्टी के गठबंधन पर मायावती ने कहा कि अगर सपा गठबंधन कर लेती है तो इसका मतलब होगा कि उसने पहले ही अपनी हार मान ली। अगर उन्होंने काम किया होता तो सहारे की जरूरत नहीं पड़ती। यह पहले से ही हार चुके हैं। हारे लोगों को जनता स्वीकार नहीं करती।

READ  नक्सलवाद के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई कब?

मायावती ने छोटे राज्यों की वकालत करते हुए कहा कि वह अभी भी छोटे राज्यों के पक्ष में हैं। बीएसपी के गठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहा कि इसका सवाल ही नहीं पैदा होता क्योंकि बीएसपी अपने दम पर बहुमत ला सकती है।

मायावती ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा में कई आपराधिक तत्व,  बदमाश और माफिया हैं। अमित शाह जो दावे कर रहे हैं, आपको पता है कि उनका क्या इतिहास रहा है?

 

 

×