वाशिंगटन। रिपब्लिकन टेड क्रूज ने विस्कॉन्सन प्राइमरी में मंगलवार को डोनाल्ड ट्रंप को हराते हुए जीत हासिल कर ली। इस हार के साथ ही अब अमेरिकी राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन पार्टी की उम्मीदवारी हासिल करने की दौड़ में आगे चल रहे डोनाल्ड ट्रंप पिछड़ते नजर आ रहे हैं। वहीं दूसरी ओर डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवारी हासिल करने की दौड़ में आगे चल रही पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन को भी तगड़ा झटका लगा है। बर्नी सैंडर्स ने विस्कॉन्सिन प्राइमरी जीत कर हिलेरी क्लिंटन को हरा दिया है।

टेड क्रूज
टेड क्रूज

फिलहाल ट्रंप के पास 737 डेलिगेट्स हैं जबकि क्रूज के पास 481 डेलिगेट्स हैं। अगर ट्रंप को रिपब्लिकन पार्टी की उम्मीदवारी हासिल करनी है तो उन्हें 1237 डेलिगेट्स की जरूरत होगी जिसमें अभी 500 डेलिगेट्स कम हैं। अमेरिका में आठ नवंबर 2016 को राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव होना है। क्रूज और ओहायो के गवर्नर जॉन केसिक रिपब्लिकन पार्टी में ट्रंप को चुनौती दे रहे हैं। विस्कॉन्सिन में लोगों से बात की गई तो 10 में से 4 लोगों ने कहा कि उन्हें डर लगता है कि अगर ट्रंप राष्ट्रपति बन गए तो पता नहीं क्या करेंगे।

आत्मविश्वास से लबरेज दिख रहे क्रूज ने जीत के बाद अपनी रैली में कहा, ‘आज की रात एक अहम मोड आया है।’ उन्होंने कहा कि इस जीत ने हवा का रुख ट्रंप के खिलाफ मोड दिया है और उनकी जीत के सिलसिले पर रोक लगाई है। क्रूज ने कहा, ‘मेरी प्रचार मुहिम को आवश्यक 1237 डेलीगेट का समर्थन प्राप्त होगा, फिर भले ही वह क्लीवलैंड से पहले हो या क्लीवलैंड में कन्वेंशन में हो. हम मिलकर नवंबर में हिलेरी क्लिंटन को हराएंगे।’ हालांकि ट्रंप ने भरोसा जताया है कि न्यूयॉर्क जैसे राज्यों में प्राइमरी चुनाव होने हैं, जहां उनके समर्थन में माहौल है। वहां जीत की बदौलत उन्हें 1237 डेलीगेट का समर्थन मिल जाएगा।

READ  कुत्ते के काटने से एक राष्ट्रपति के बेटे की मौत
बर्नी सैंडर्स
बर्नी सैंडर्स

इसी प्रकार सैंडर्स ने जोर दिया कि पिछली छह में से पांच प्राइमरी में जीत के साथ हवा का रुख उनकी ओर है। उन्होंने कहा, ‘कुछ ही पल पहले समाचार नेटवर्कों ने एक अन्य राज्य में हमारी राजनीतिक क्रांति की जीत की घोषणा की और यह जीत बड़ी है। सैंडर्स ने कहा, ‘आज की रात ने मुहिम के सबसे महत्वपूर्ण तीन सप्ताह की शुरुआत की और हमने एक और शानदार जीत दर्ज की। यदि हम आगामी तीन सप्ताह में उन राज्यों में अपनी लय बरकरार रख पाते हैं जहां मतदान और कॉकस होने हैं तो हम यह चुनाव जीत जाएंगे।’