ओपिनियन पोस्‍ट
डेढ़ सौ साल बाद एक बार फिर आज आसमान में अनोखी खगोलीय घटना होने जा रही है। आज पृथ्वी चंद्रमा के सबसे नजदीक होगी और वो सूर्य और चंद्रमा के बीच आ जाएगी, जिससे भारत के अलावा 12 से अधिक अन्य देशों में पूर्ण चंद्रग्रहण दिखाई देगा।

आज शाम 76 मिनट तक आसमान में सुपर ब्लड मून दिखेगा। यानी चंद्रग्रहण के दौरान जब धरती पूरी तरह से चांद को ढंक लेगी, तो लाल रंग का घेरा दिखाई देगा, जिसे ब्लड मून कहते हैं। इसके बाद धरती के सबसे करीब होने के कारण सुपरमून की घटना भी आज ही दिखाई देगी।

यानी चंद्रमा का आकार सामान्य दिनों के मुकाबले 17 फीसद बड़ा और 30 फीसद अधिक चमकीला दिखाई देगा। भारत में शाम 6.21 मिनट से 7.37 मिनट तक पूर्ण चंद्रग्रहण का नजारा दिखेगा। नासा ने बताया कि ‘सुपर ब्लड ब्लू मून’ की घटना मध्यपूर्व, एशिया, पूर्वी रूस, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में देखने को मिलेगी। खबरों के अनुसार इस दौरान चंद्रमा का निचला हिस्सा ऊपरी हिस्से की तुलना में ज्यादा चमकीला दिखेगा। इस साल के बाद अगली बार ब्लू मून की घटना 31 दिसंबर 2028 को और फिर 31 जनवरी 2037 को दिखेगी। दोनों ही बार पूर्ण चंद्रग्रहण होगा।

ऐसे होता है चंद्र ग्रहण

चंद्रमा और सूर्य के बीच में पृथ्वी के आ जाने को ही चंद्र ग्रहण कहते है। चंद्र ग्रहण तब होता है जब सूर्य और चंद्रमा के बीच पृथ्वी इस प्रकार आ जाती है कि पृथ्वी की छाया से चंद्रमा का पूरा या आंशिक भाग ढक जाता है। तब सूर्य की किरणों को चंद्रमा तक पहुंचने से धरती रोक देती है और उस हिस्से में ग्रहण नजर आता है।

READ  यूं उड़ाई जाती हैं वनवे के आदेश की धज्जियां

ग्रहण की काली छाया शाम 5.18 बजे चंद्रमा को स्पर्श कर लेगी और आंशिक चंद्र ग्रहण शुरू हो जाएगा। पृथ्वी की छाया धीरे-धीरे चंद्रमा को ढकती जाएगी और इसके बाद शाम 6.21 से चंद्रमा को पृथ्वी की छाया पूरी तरह ढक लेगी।

कहां और कब दिखेगी घटना

पूर्ण चंद्रग्रहण आज: 35 साल बाद एक साथ नजर आएगा सुपर मून, ब्लू मून और ब्लड मून, national news in hindi, national news

भारत के विभिन्न हिस्सों में चंद्रोदय अलग-अलग समय पर होगा। इटानगर में 4.47 बजे, कोलकाता में 5.16 बजे, पटना में 5.25 बजे, दिल्ली में 5.53 बजे, चेन्नई में 6.04 बजे और मुंबई में 6.27 बजे चंद्रोदय होगा। भारत में शाम 4.21 बजे से लेकर रात को 9.38 बजे तक चंद्र ग्रहण की घटना देखने को मिलेगी।

पूर्वोत्तर के लोग शाम 4:21 से 5:18 के बीच यह घटना देख सकेंगे। जबकि शेष भारत में 5:18 से लेकर 6:21 के बीच ‘सुपर ब्लू ब्लड मून’ देखा जा सकेगा। राजस्थान सहित भारत के पश्चिमी भाग में 6:21 बजे से शाम 7 बजे तक चंद्रमा की तीनों घटनाएं यानी ‘सुपर ब्लू ब्लड मून’ दिखाई देगा।

ब्लू मून
इस स्थिति में पूर्ण चंद्रमा दिखता है लेकिन चंद्रमा के निचले हिस्से से नीला प्रकाश निकलता दिखेगा। इसे ब्लू मून कहा जाता है। माना जाता है कि अगला ब्लू मून 2028 और 2037 में दिखेगा।

ब्लड मून
इस स्थिति में पृथ्वी की छाया पूरे चंद्रमा को ढंक लेता है लेकिन फिर सूर्य की कुछ किरणें चंद्रमा तक पहुंचती हैं। जब सूर्य की किरणे चंद्रमा पर गिरती हैं तो यह लाल दिखता है। इसी कारण इसे ब्लड मून कहा जाता है।