प्रधानमंत्री ने कहा कि कागज के नोटों का जमाना जाने वाला है। आपको एटीएम और बैंकों के बाहर लाइन में लगने की जरूरत नहीं है, अपने मोबाइल से ई-वॉलेट का इस्तेमाल कीजिए। आपका बटुआ आपके मोबाइल में है।हिंदुस्तान तेज गति से दुनिया से आगे जाना चाहता है। देश कालाधन और जाली नोट बर्दाश्त नहीं करेगा। नोटों के पहाड़ अर्थतंत्र को दबोच रहे हैं।

पीएम मोदी ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि बनासकांठा के लोग रोजी-रोटी के लिए बाहर जाते थे लेकिन किसानों ने यहां की तस्वीर बदल दी। बनासकांठा आज आलू उत्पाद के लिए जाना जाता है। बनास डेयरी ने अमूल के साथ चीज उत्पादन शुरू किया। बनासकांठा के किसान अब मधु क्रांति लाएंगे।

पीएम मोदी ने कहा कि मैं आपके बीच प्रधानमंत्री बनकर नहीं इस धरती की संतान के रूप में आया हूं। बनासकांठा के किसानों ने रेगिस्तान जैसी जमीन को सोने में तबदील कर दिया। बनासकांठा को बचाने के लिए पानी को बचाना होगा।

READ  मुठभेड़ में मारे गए तीन आतंकी, मसूद अजहर का भतीजा भी ढेर