द बिग कैट्स कमल मोरारका की नजर से…

ओपिनियन पोस्ट
Mon, 25 Feb, 2019 16:40 PM IST

कमल मोरारका ने इन तस्वीरों के जरिये जंगल के राजा के दैनिक जीवन को बहुत ही खूबसूरती से कैमरे में कैद किया है. सुदूर जंगलों के भीतर रहने वाले बाघों के जीवन के विभिन्न पहलुओं को काफी कलात्मक तरीके से कैद कर उसे दुनिया के सामने लाया गया है.

kamal morarka photographyउद्योगपति, राजनेता, समाजसेवी, वन्यजीव प्रेमी, शानदार फोटोग्राफर. ये सब एक ही शख्स कमल मोरारका के व्यक्तित्व के विभिन्न पहलू हैं. एक फोटोग्राफर के तौर पर कमल मोरारका कितने संवेदनशील हैं, इसका नमूना उनके द्वारा ली गई तस्वीरों में देखने को मिलता है. 29 जनवरी से 4 फरवरी 2019 के बीच मुंबई के जहांगीर आर्ट गैलरी में कमल मोरारका की तस्वीरों की एक प्रदर्शनी लगाई गई थी. इन तस्वीरों को ‘द बिग कैट्स’ नाम से प्रदर्शित किया गया था. इस आर्ट एक्जिबिशन का उद्घाटन 29 जनवरी को बॉलीवुड के जाने-माने संवाद और पटकथा लेखक जावेद अख्तर ने किया.

the big catsमोरारका ने इन तस्वीरों के जरिये जंगल के राजा के दैनिक जीवन को बहुत ही खूबसूरती से कैमरे में कैद किया है. सुदूर जंगलों के भीतर रहने वाले बाघों के जीवन के विभिन्न पहलुओं को काफी कलात्मक तरीके से कैद कर उसे दुनिया के सामने लाया गया है. ये तस्वीरें अन्य जंगली जानवरों के साथ बाघों के भावुक जुड़ाव, अपने शावकों के प्रति आत्मीयता और उनके मूड के कई रंगों को दिखाती हैं. बाघ कैसे किसी अन्य जानवर पर हमला करते हैं या लड़ाई करते हैं, उनके आक्रमण का तरीका क्या होता है, जैसी बारीकियों को भी ये तस्वीरें बयान करती हैं. कमल मोरारका देश के जाने-माने उद्योगपति हैं.

READ  सब कुछ के लायक, फिर भी हाशिये पर

kamal Morarka with Jawed Akhtarवे विभिन्न सामुदायिक और परोपकारी गतिविधियों में शामिल रहने वाले, कला, विरासत, संस्कृति के रक्षक और वन्यजीव प्रेमी के तौर पर जाने जाते हैं. वे 1990-91 में चंद्रशेखर सरकार में प्रधानमंत्री मोरारका राजस्थान के शेखावाटी की हवेलियों को पुनर्जीवित करने के साथ ही देश भर में बड़े पैमाने पर जैविक खेती को भी बढ़ावा दे रहे हैं. वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफी में उनकी दिलचस्पी 1995 से शुरू हुई, जब वे पहली बार साइबेरियन क्रेन देखने के लिए भरतपुर के केवलादेव नेशनल पार्क गए थे. इसके बाद वे लगातार साइबेरियन क्रेन देखने के लिए भरतपुर जाते रहे. इसके बाद उन्होंने वन्यजीव फोटोग्राफी के लिए नागरहोल, काबिनी और रंगांथिटु का दौरा किया. इसके अलावा मोरारका ने सरिस्का, बांधवगढ़, कान्हा, पेंच, केन्या के प्रसिद्ध मसाई मारा क्षेत्र, दक्षिण अफ्रीका के क्रूगर नेशनल पार्क के वन्य जीवन को अपने कैमरे में कैद किया.

×