क्या दादरी का बदला दहशत से लेने की तैयारी में जुटे हैं आतंकी ?

नई दिल्ली । क्या देश को एक बार फिर किसी आतंकी हमले से दहलाने की तैयारी है । उत्तर प्रदेश क्या आतंकवादियों के निशाने पर है ।ऐसे कई सवाल तब खड़े हुए है जब खुफिया एजेंसियों ने उत्तर प्रदेश में दादरी कांड का बदला लेने के लिए आतंकी हमले की आशंका से भरा अलर्ट जारी करते हुए राज्य में सुरक्षा व्यस्था कड़ी करने की सलाह दी है ।
दिलचस्प बात है कि दादरी कांड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल ही अपनी चुप्पी तोड़ी और आज ये खबर आ रही है कि खुफिया विभाग की ओर से इंटरसेप्ट किए गए कुछ कोड से यह खुलासा हुआ कि आतंकी संगठन उत्तर प्रदेश के कई जिलों में धमाकों की योजना बना रहे हैं।
खुफिया सूत्रों का कहना है कि आतंकी संगठन दादरी और मैनपुरी में हुई हिंसा का बदला लेने के मकसद से यह साजिश रच रहे हैं। ख़ुफ़िया विभाग के अलर्ट का हवाला देकर एक अंग्रेजी अखबार ने रिपोर्ट भी प्रकाशित की है । रिपोर्ट के मुताबिक, खुफिया सूचना के बाद राज्य में हाईअलर्ट घोषित कर दिया गया है और पुलिस को चौकन्ना रहने के निर्देश दिए गए हैं।
सूत्रों का कहना है कि करीब पांच पेज में इंटरसेप्ट किए गए संदेश में वीएचपी नेता अशोक सिंघल और प्रवीण तोगड़िया पर हमला करने का भी जिक्र है। इंटरसेप्ट के मुताबिक, आतंकी संगठनों से जुड़े कुछ लोग प्रदेश की महिला पुलिस अफसरों को हनी ट्रैप में फंसाकर उनका साजिश में इस्तेमाल करेंगे।
गौरतलब है कि 28 सितंबर को यूपी के दादरी में बीफ खाने की अफवाह फैलने के बाद मोहम्मद अखलाक नाम के शख्स की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। वहीं, 10 अक्टूबर को मैनपुरी जिले में गाय की खाल उतारने को लेकर दो युवकों की भीड़ ने पिटाई कर दी। उन्हें जान से मारने की कोशिश भी की गई। इनको बचाने आई पुलिस पर भी जानलेवा हमला किया।
पांच पन्ने के इंटरसेप्ट में उन लोगों के नाम हैं, जिनको आतंकी निशाना बनाना चाहते हैं। इंटरसेप्ट में दो लोग राज्य में स्लीपर सेल्स से जुड़ी बातें करते हैं। वे कई बार इलाहाबाद के एक शख्स का जिक्र करते हैं, जो आतंकी संगठनों से जुड़े लोगों को मदद करने के लिए जाना जाता है। बातचीत के दौरान एक शख्स दूसरे को भरोसा दिलाता है कि ‘आतंकी संगठन से जुड़े पुरुषों के झांसे में आईं कुछ महिला पुलिस अफसर’ भी साजिश में उनकी मदद करेंगी। प्रदेश में बेहद संवेदनशील माने जाने वाली जगह मसलन-काशी विश्वनाथ मंदिर और अयोध्या के रामलला मंदिर को निशाना बनाने की बात कही गई है।
सूत्रों के मुताबिक, इंटेलिजेंस एजेंसियों और मिलिट्री ने इलाहाबाद में दो लोगों को हिरासत में लिया है। इन्होंने पूछताछ में यूपी विधानसभा, इलाहाबाद हाईकोर्ट, कानपुर रेलवे स्टेशन और इलाहाबाद में पूर्व सैनिकों की कॉलोनियों को निशाना बनाने की साजिश का खुलासा किया है। अगर वाकई खुफिया विभाग के पास ऐसे गंभीर इनपुट है तो उत्तर प्रदेश वाकई दहशत के मुहाने पर खड़ा है क्यूंकि उत्तर प्रदेश में स्लीपर सेल्स का बड़ा नेटवर्क है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *