पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट कप्तान रिकी पोंटिंग ने स्पिनर हरभजन सिंह के बारे में बात करते हुए कहा कि हरभजन उनके दुश्मन थे और उन्हें आज भी भज्जी के बारे में उन्हें बुरे सपने आते हैं। बता दें कि हरभजन सिंह ने किसी भी अन्य गेंदबाज के मुकाबले रिकी पोंटिंग को टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा 10 बार आउट किया है। बता दें, आईपीएल में दोनों खिलाड़ी मुंबई इंडियंस के लिए खेलते थे।

पत्रकारों से बात करते हुए पोंटिंग ने कहा जब में भारत के खिलाफ खेलता था तो हरभजन सिंह मेरे कट्टर दुश्मन थे। मुझे आज भी उनके बुरे सपने आते हैं। ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग को उनके गृहराज्य तस्मानिया ने अपना ब्रांड अम्बेस्डर बनाया है। वे भारत में अपने गृहराज्य के उच्चस्तरीय व्यावसायिक संबधों और शिक्षा से संबंधित कार्यों को बढ़ावा देने के लिए आए हैं।

रिकी पोंटिंग ने भारतीय बल्लेबाज और टेस्ट कप्तान विराट कोहली की भी जमकर तारीफ की और कहा कि वे बहुत ही कुशल और टैलेंटेड खिलाड़ी हैं।

पोंटिंग इसी बीच दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर और कोहली की तुलना करने से बचते दिखे। उन्होंने कहा कि कोहली अभी काफी युवा हैं। उन्होंने कहा कि विराट को पहले अपना करियर समाप्त करने दीजिए। वह सचिन से तुलना करने के लिए काफी युवा हैं। अगर उन्हें कल चोट लग जाती है तो कोई तुलना नहीं होगी। सचिन ने 200 टेस्ट मैच खेले हैं जबकि विराट ने अभी तक 60-70 टेस्ट मैच ही खेले हैं।

पोंटिंग ने इस बात को मानने से साफ इनकार कर दिया कि ऑस्ट्रेलिया की मौजूदा टेस्ट टीम इस समय संघर्ष के दौर से गुजर रही है। पोंटिंग ने माना कि 2017 में भारत के खिलाफ होने वाली श्रृंखला स्मिथ की टीम के लिए कड़ी चुनौती होगी।उन्होंने कहा कि मैं नहीं मानता की ऑस्ट्रेलिया की मौजूदा टीम खराब दौर से गुजर रही है। वह जल्द ही भारत के खिलाफ खेलेंगे और यह उपमहाद्वीप में उनके लिए चुनौती होगी। देखना होगा कि वह टेस्ट मैचों में कैसे इस परिस्थिति का सामना करते हैं। पोंटिंग ने कहा कि अगर आप श्रीलंका के खिलाफ हुई श्रृंखला को देखें तो यह बुरी थी। लेकिन ऑस्ट्रेलियाई टीम पिछले 10 वर्षो में शीर्ष तीन टीमों में बनी हुई है।

READ  दूसरी बार पापा बने आर. अश्विन