पटेल जयंती पर ‘रन फॉर यूनिटी’ को पीएम की हरी झंडी

ओपिनियन पोस्ट
Sat, 31 Oct, 2015 11:29 AM IST

नई दिल्ली। सरदार वल्लभ भाई पटेल की 140 वीं जयंती पर ‘रन फॉर यूनिटी’ को हरी झंडी दिखाने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘सरदार पटेल के महान कार्यों को याद करना और महान संकल्‍पों को लेकर जीना-मरना देश के हर युवा का दायित्‍व है। वे लौह पुरुष के रूप में केवल अखबार में छापे जाने की वजह से नहीं माने गए। सरदार पटेल का देश की एकता से अटूट नाता है और वे अपने फैसलों की वजह से पटेल ‘लौह पुरुष’ बने। उन्‍होंने शक्ति और समझदारी से फैसले लिए तब जाकर वे लौह पुरूष कहलाए। भारत की एकता के लिए सरदार पटेल का योगदान कम नहीं आंका जा सकता। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने तत्‍कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को भी याद किया।’ साथ ही पीएम ने कहा कि सरकार एक भारत-श्रेष्‍ठ भारत योजना भी लाएगी।
‘सरदार पटेल ने भारत को एकता के सूत्र में बांधा’
पीएम ने कहा, ‘अंग्रेज चाहते थे कि आजादी के बाद भारत एकता के सूत्र में न बंधे, इसलिए उन्‍होंने अपने शासनकाल में विभाजनकारी नीतियों के बीज बोए, लेकिन सरदार पटेल ने भारत को एकता के सूत्र में बांध दिया। चाणक्‍य के बाद भारत को एकता के सूत्र में सरदार पटेल ने बांधा। एक भारत-श्रेष्‍ठ भारत बने, इसके लिए सवा सौ करोड़ देशवासियों का सामूहिक पुरुषार्थ जरूरी है।’
पीएम ने आगे कहा, ‘सरदार साहब की कई विशेषताएं थीं। सरदार साहब के स्‍वच्‍छता अभियान की तारीफ खुद महात्‍मा गांधी ने की थी। महात्‍मा गांधी की बातों में सटिकता थी। सरदार महिला सशक्तिकरण के लिए शुरू से ही जागरूक थे। 1930 से पहले पटेल अहमदाबाद में म्युनिसिपल में महिलाओं के लिए 50 प्रतिशत आरक्षण का प्रस्ताव लाए थे।
सरदार साहब का जीवन हमें प्रेरणा देता है।’ इस अवसर पर पीएम ने कहा कि परिवारवाद ने राजनीति को कलंकित किया।
‘पीएम और लोगों ने लिया एकता का संकल्‍प’
इस अवसर पर पीएम के साथ वहां मौजूद लोगों ने एकता का संकल्‍प लेते हुए कहा कि ‘मैं सत्‍य निष्‍ठा से शपथ लेता हूं कि मैं राष्‍ट्र की एकता, अखंडता और सुरक्षा को बनाए रखने के लिए स्‍वयं को समर्पित करूंगा। मैं अपने देशवासियों के बीच यह संदेश फैलाने का भी भरसक प्रयत्‍न करूंगा। मैं यह शपथ अपने देश की एकता की भावना से ले रहा हूं, जिसे सरदार वल्‍लभ भाई पटेल की दूरदर्शिता एवं कार्यों द्वारा संभव बनाया जा सका। मैं अपने देश की आंतरिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अपना योगदान करने का भी सत्‍य निष्‍ठा से संकल्‍प करता हूं।’
‘रन फॉर यूनिटी’ को दिखाई हरी झंडी
संबोधन के बाद प्रधानमंत्री ने ‘रन फॉर यूनिटी’ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौड़ में स्कूली बच्चों सहित भारी संख्या में लोगों और खिलाड़ियों ने हिस्‍सा लिया। पीएम के संबोधन से पहले प्रधानमंत्री और गृह मंत्री राजनाथ सिंह, संसदीय कार्य मंत्री वेंकैया नायडू, दिल्‍ली के उप राज्‍यपाल नजीब जंग ने सरादर पटेल की प्रतिमा पर पुष्‍पांजलि भी अर्पित की। सरदार पटेल की जयंती पर रन फॉर यूनिटी की शुरुआत पिछले साल हुई थी। इस रैली के चलते एकता दौड़ के चलते राजपथ और रफ़ी मार्ग सुबह 5 बजे से 9.30 बजे तक बंद रखा गया है और जनपथ के साथ मान सिंह रोड सुबह 7 बजे से 9.30 बजे तक बंद रहेंगे।
पीएमओ की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि रन फॉर यूनिटी में भागदारी स्वैच्छिक है। इसमें कहा गया है कि राष्ट्रीय एकता दिवस की पूर्व संध्या पर शुक्रवार को नई दिल्ली में भारत सरकार के कई कार्यालयों में राष्ट्रीय एकता के लिए शपथ दिलाई गई। राज्यों में भी समारोह का आयोजन किया जा रहा है जिसमें विभिन्न स्थानों पर केन्द्रीय मंत्री शामिल होंगे।

READ  मुठभेड़ में मारे गए तीन आतंकी, मसूद अजहर का भतीजा भी ढेर
×