कांग्रेस ने फरार माल्या पर घोषित किया 10 लाख का इनाम

ओपिनियन पोस्ट
Mon, 14 Mar, 2016 19:03 PM IST

नई दिल्ली। कांग्रेस ने शराब कारोबारी विजय माल्या के देश छोड़ने के संबंध में सरकार पर हमला तेज करते हुए सोमवार को उससे इस प्रकरण पर पांच सवाल दागे। कांग्रेस ने पूछा है कि सरकार बताए कि क्या माल्या के विदेश जाने की जानकारी प्रधानमंत्री को भी थी। कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने संसद भवन परिसर में पत्रकारों से कहा कि माल्या ने देश लौटने से मना कर दिया है। इसलिए सरकार माल्या के साथ ही आईपीएल में वित्तीय अनियमितताओं के आरोपी और लंदन भाग कर गए ललित मोदी के बारे में निर्णायक कदम उठाए।

उन्होंने इस मुद्दे सरकार से पांच सवाल पूछते हुए कहा कि उसे बताना चाहिए कि क्या माल्या के विदेश जाने की जानकारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली को थी। उनका यह भी सवाल था कि माल्या और ललित मोदी को भारत लाने के मामले में ब्रिटेन की सरकार पर दबाव बनाया जाएगा? उन्होंने केंद्रीय जांच ब्यूरो से भी माल्या के मामले में अपनी इस भूमिका पर स्पष्टीकरण देने को कहा कि क्या उसने आब्रजन विभाग को इस मामले में दूसरी बार भेजे गए लुकआउट नोटिस पर सख्त कार्रवाई नहीं करने को कहा था। पार्टी ने परवर्तन निदेशालय द्वारा इस मामले में की गयी कार्रवाई के साथ ही यह भी पूछा कि माल्या की शराब कंपनी यूनाइटेड स्प्रिट के शेयरों के बदले ब्रिटेन की शराब कंपनी द्वारा किए गए भुगतान के मद्देनजर क्या सरकार माल्या के बैंक खाते को जब्त करेगी।

कांग्रेस के पांच सवाल-
1. क्या भारत सरकार ब्रिटिश सरकार पर माल्या के प्रत्यर्पण के लिए दबाव बनाएगी या फिर ललित मोदी मामले की तरह टालेगी?
2. क्या 2 मार्च को देश छोड़ने से ठीक पहले एक मार्च को संसद परिसर में वित्त मंत्री अरुण जेटली से मिले थे विजय माल्या? अगर मिले थे तो क्या बात हुई? क्या जेटली ने इस बारे में प्रधानमंत्री से बात की?
3. सीबीआई ने नोटिस क्यों बदला?
4. ईडी ने 7 मार्च को फिर 18 मार्च को पेश होने को कहा है। और भी तमाम एजेंसी अब सक्रिय हो रही हैं?
5. यूनाइटेड स्पिरिट्स कंपनी बेची गई तो उसका पैसा बैंकों को क्यों नहीं दिया गया?

READ  'प्रेम' ने 'पंखुड़ी' को ये क्या कह दिया ?

बैंकों से 9000 करोड़ रुपये कर्ज लेकर देश से बाहर जाने वाले कारोबारी विजय माल्या को लेकर विपक्ष ने सोमवार को संसद में भी हंगामा किया। उधर  इलाहाबाद के कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने माल्या को अब इनामी विजय माल्या घोषित किया है। कांग्रेस ने विजय माल्या को वापस लाने के लिए 10 लाख रुपये का इनाम रखा है। इलाहाबाद जिला कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने शहर के सिविल लाइंस में माल्या के जगह-जगह पोस्टर लगाए हैं। ढोल बजाकर मुनादी करते हुए उनको देश में लाने वाले को दस लाख का इनाम देने की बात कही है। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि ये रकम ज्यादा भी हो सकती है कम नहीं। शहर कांग्रेस के लोगों ने प्रदर्शन के दौरान केंद्र की भाजपा सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नारे भी लगाए।

×