सेल ने बाजारोन्मुख उत्पादों की तरफ़ दिया ज़ोर

बर्नपुर/नई दिल्लीस्टील अथॉरिटी ऑफ इण्डिया लिमिटेड (सेल) अपनी प्रक्रियाओं को नया रूप देने और बाजार को विश्वस्तरीय की उत्पाद आपूर्ति करने के स्थिति में है। जबकि सेल की आधुनिकीकरण परियोजनाएं पूरी होने वाली हैं। सेल के अध्यक्ष पीके सिंह ने आज बर्नपुर में इस्को स्टील प्लांट (आईएसपी) का दौरा किया और विभिन्न विभागों के 600 से ज्यादा कार्मिकों के साथ बातचीत की। जहां उन्होंने संयंत्र के कार्मिकों को क्षमता से आगे बढ़ते हुए“पहले क्षमता के लिए उत्पादन, फिर सामर्थ्य के लिए उत्पादन” स्लोगन के साथ नई मिलों की निर्धारित क्षमता को बढ़ाने पर ज़ोर दिया। वहीं कार्मिकों को प्रोत्साहित करते हुए उन्होंने आईएसपी कार्मिकों की क्षमता का पूरा दोहन करने के लिए, कंपनी के मौजूदा लक्ष्य और प्राथमिकताओं को फिर से निर्धारित किया।  प्रधानमंत्री द्वारा राष्ट्र को समर्पित, सेल-आइएसपी का नया और आधुनिकीकृत संयंत्र, सेल को लॉन्ग उत्पाद बाज़ार में अपनी हिस्सेदारी मौजूदा 7 फीसद से 10 फीसद तक ले जाने में मदद करेगा। आधुनिकीकरण के बाद आईएसपी की अत्याधुनिक वायर रॉड मिल (डब्लूआरएम) यूनिवर्सल स्ट्रक्चरल मिल (यूएसएम) और बार मिल उच्च गुणवत्ता के इस्पात का उत्पादन करने में सक्षम है।

आईएसपी को सामूहिक रूप से संबोधित करते हुए उन्होंने ने कहा, “इस संयंत्र के पास नई मिलों से उत्पादित संवर्धित उत्पादों की वजह से नए बाज़ार क्षेत्रों को हासिल करने की अपार क्षमता है। हर कर्मचारी अपने अधिकार क्षेत्र में एक मुख्य कार्यकारी अधिकारी की तरह है और हमें समग्र रूप से एक विश्वस्तरीय स्टील कंपनी बनने के लिए अपनी पूरी ताकत लगाकर एक दिशा में काम करना होगा। बेहतर बनना समय की मांग है, जहां हमें उत्पादन के प्रत्येक क्षेत्र से लेकर ग्राहक के पास पहुँचने तक विश्वस्तरीय बनना है। इन नई मिलों से बेहतर निष्पादन के सपने और बहुत ही अधिक उम्मीदें जुड़ी हुई हैं; और मुझे पूरा भरोसा है कि इस्को अपने सामूहिक प्रयासों से सर्वोत्त्म परिणाम ला सकता है।” इस वृहद सामूहिक संवाद के दौरान सेल अध्यक्ष के साथ निदेशक (वित्त) अनिल चौधरी और निदेशक (वाणिज्यिक) सोमा मंडल भी मौजूद थे।

इस्को इस्पात संयंत्र के सीईओ राजेश राठी ने भी कार्मिकों को संबोधित किया और संयंत्र की ओर से विश्वस्तरीय बनने की चुनौती को स्वीकार किया। सरकार की विकास केंद्रित नीतियों के मद्देनजर, विनिर्माण, निर्माण, घर निर्माण, उद्योग, सड़क और रेलवे जैसे क्षेत्रों में वृद्धि देखी जा रही है। सभी के लिए आवास, रेल और सड़क संपर्क सुधार, स्मार्ट शहरों, टू टायर शहरों में हवाई अड्डे की कनेक्टिविटी, बुनियादी विकास परियोजनाएं स्टील की बढ़ती मांग में वृद्धि करेंगी। इस्को संयंत्र की नई मिलें इन जरूरतों को पूरा करने के लिए सुसज्जित हैं। सेल शीर्ष प्रबंधन कार्मिकों से मिलने और संवाद के जरिये अपने लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में आशान्वित है और कंपनी की परिचालन उत्कृष्टता को बनाए रखने के प्रति संकल्पित है।

×