महागठबंधन को पटनायक का झटका

अपनी सादगी और शांत स्वभाव के लिए पहचाने जाने वाले बीजू जनता दल के प्रमुख और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने महागठबंधन को बड़ा झटका दिया है. कांग्रेस और भाजपा उनके ऊपर एक दूसरे के करीबी होने का लगातार आरोप लगा रही थी. इस बीच उन्होंने चुप्पी तोड़ी और ऐसी तोड़ी की दोनों ही गठबंधन के महारथियों की बोलती बंद कर दी.

नवीन पटनायक ने कहा कि उन्हें किसी भी गठबंधन से कोई लेना देना नहीं है. उन्होंने कहा कि बीजद महागठबंधन का हिस्सा नहीं है और न ही भाजपा के साथ उनका कोई संबंध है. बीजद कभी राजग का हिस्सा रह चुकी है. यही नहीं पटनायक ने कई महत्वपूर्ण मौके पर मोदी का समर्थन भी दिया है.

इसके कारण यह कयास लगाए जा रहे थे कि वो किसी का भी दामन थाम सकती है. बीते दिसंबर में लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखकर तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव कांग्रेस-गैर बीजेपी गठबंधन बनाने की संभावना तलाशने के लिए नवीन पटनायक से मुलाकात की थी. इस दौरान उन्होंने कहा था कि नवीन पटनायक भी राष्ट्रीय राजनीति में बदलाव के इच्छुक हैं और दोनों की मुलाकात सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ी है. हालांकि, पटनायक के इस फैसले के बाद उनके महागठबंधन में शामिल होने की कयासों पर विराम लग गया है.

×