आईआईटी बॉम्बे के छात्र पराग बने ट्वीटर के सीटीओ

ट्विटर ने पराग अग्रवाल को अपना नया चीफ टेक्नीकल ऑफिसर (सीटीओ) नियुक्त किया है। पराग को 2016 में कंपनी छोड़ने वाले एडम मेसिंगर के बदले यह जिम्मेदारी दी गई है। ट्विटर की वेबसाइट के मुताबिक, सीटीओ के रूप में पराग कंपनी की तकनीकी रणनीति का नेतृत्व करेंगे। उनके जिम्मे मशीन लर्निंग, ट्विटर के ग्राहक एवं राजस्व उत्पाद और इंफ्रास्ट्रक्चर टीम की देखरेख होगी।

आईआईटी बॉम्बे के छात्र पराग ने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस में पीएचडी की है। पराग 2011 में बतौर एड इंजीनियर ट्विटर से जुड़े थे। उन्हें हाल ही प्रतिष्ठित सॉफ्टवेयर इंजीनियर का खिताब दिया गया था। इसके बाद उन्होंने एड सिस्टम बढ़ाने के प्रयासों की जिम्मेदारी उठाई। उन्होंने ऑनलाइन मशीन लर्निंग के लिए भी एक प्लेटफार्म तैयार किया। पराग ने बड़े पैमाने पर डाटा रिसर्च के क्षेत्र में काम किया है। वह माइक्रोसॉफ्ट रिसर्च, याहू रिसर्च और एटीएंडटी लैब्स जैसी दिग्गज कंपनियों से जुड़े रहे। ट्विटर ज्वाइन करने से पहले उन्होंने एटी एंड टी, माइक्रोसॉफ्ट और याहू में रिसर्च इंटर्नशिप की हैं।

ट्विटर में पराग के योगदानों में आर्टिफिशल इंटेलिजेंस के इस्तेमाल से ट्विटर यूजर्स की टाइमलाइंस में ट्वीट्स के औचित्य बढ़ाने के प्रयास भी शामिल हैं। ट्विटर आर्टिफिशल इंटेलिजेंस की मदद से खुद के गलत इस्तेमाल को भी रोकता है। ट्विटर के प्रवक्ता ने बताया- सीटीओ के तौर पर उनका काम मशीन लर्निंग और एआई सीखाने पर केंद्रित होगा। इसके अलावा राजस्व उत्पाद और बुनियादी ढांचा टीमों की स्केलिंग करना भी होगा। ट्विटर ने इस हफ्ते घोषणा की थी कि वह अपने प्लैटफॉर्म पर ‘सामूहिक स्वास्थ्य, खुलापन और सार्वजनिक बातचीत में शिष्टाचार बढ़ाने’ के मकसद से समाज विज्ञान का एक निदेशक नियुक्त करना चाहता है।

×