न्यूज फ्लैश

हाईकोर्ट ने पूछा, केजरीवाल को किसने दी धरने की अनुमति

गैरभाजपा शासित चार राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की तो इस मौके की तस्वीरें सोशल मीडिया में होने लगीं वायरल

नई दिल्ली।

दिल्ली हाईकोर्ट ने एलजी ऑफिस में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के धरने पर पूछा है कि केजरीवाल को किसने उपराज्यपाल के कार्यालय में धरना देने की अनुमति दी ? क्या इसके लिए एलजी की इजाजत ली गई है।

उधर, गैरभाजपा शासित चार राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री एचडी कुमार स्‍वामी, आंध्र प्रदेश के मुख्‍यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू, पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी और केरल के मुख्‍यमंत्री पिनरई विजयन ने अलग से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की तो इस मौके की तस्‍वीरें तरह-तरह की टिप्‍पणियों के साथ सोशल मीडिया में वायरल होने लगीं। ये चारों मुख्‍यमंत्री नीति आयोग की बैठक में शामिल होने आए थे, जिन्‍होंने केजरीवाल का समर्थन किया है।

उधर, हाइकोर्ट में याचिका दायर कर मांग की गई है कि दिल्ली सरकार के आईएएस अफ़सरों की हड़ताल ख़त्म करने का आदेश दिया जाए। केजरीवाल के धरने के ख़िलाफ़ एक जनहित याचिका पर दिल्ली हाइकोर्ट ने सुनवाई की। जनहित याचिका में कहा गया है कि मुख्यमंत्री और मंत्री हड़ताल नहीं कर सकते क्योंकि वे संवैधानिक पदों पर होते हैं।

धरने पर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने तंज कसा है। उन्होंने कहा, ‘करने में जीरो, धरने में हीरो, करना कुछ नहीं धरना सब कुछ’, यह उनकी मानसिकता है। ये दिल्ली के लोगों का विश्वास तोड़ रहे हैं।

बता दें कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल अपनी आधी कैबिनेट के साथ पिछले सात दिनों से एलजी आवास पर धरना दे रहे हैं। उनका आरोप है कि कुछ महीनों से दिल्ली के आईएएस अधिकारी हड़ताल पर हैं और इस वजह से दिल्ली सरकार सुचारु रूप से काम नहीं कर पा रही है।

उनका आरोप है कि उपराज्पाल जानबूझकर दिल्ली सरकार की कई फाइलें पास करने में जरूरत से ज्यादा समय ले रहे हैं, जिसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है। धरने पर बैठे सीएम केजरीवाल ने मांग की है कि दिल्ली के उपराज्यपाल सभी आईएएस अधिकारियों को जल्द से जल्द काम पर लौटने का आदेश दें।

सत्येंद्र जैन की तबीयत में सुधार

दिल्ली के उप राज्यपाल के राजनिवास में अनशन पर बैठे मंत्री सत्येंद्र जैन की तबीयत अब ठीक है। रविवार रात उनकी तबीयत बिगड़ गई थी। इसके बाद उन्हें लोकनायक जय प्रकाश अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां वे चिकित्‍सकों की निगरानी में हैं। दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर जानकारी दी कि अब सत्येंद्र जैन की तबीयत ठीक है।

विपक्षी एकता की कवायद

आम आदमी पार्टी के पीएम आवास तक निकाले जा रहे मार्च के माध्यम से इस मामले में पीएम के हस्तक्षेप की मांग की गई है। मार्च को विपक्षी पार्टियों का भी साथ मिला है। सीपीआई के नेता सीताराम येचुरी ने मार्च में शामिल होने की घोषणा की। भाजपा के बागी और विपक्षी दलों के कई अन्य नेताओं ने भी मार्च को ट्वीट कर समर्थन दिया है।

धरने के बावजूद दिल्ली के उपराज्यपाल ने उन्हें अभी तक मिलने का समय नहीं दिया है। मार्च के समर्थन में भाजपा के बागी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्वीट किया कि वह अरविंद केजरीवाल के समर्पण भाव की तारीफ करते हैं। इसी तरह एमके स्टालिन ने भी मार्च का समर्थन किया।

The following two tabs change content below.
ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।
ओपिनियन पोस्ट
About ओपिनियन पोस्ट (4168 Articles)
ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

*