न्यूज फ्लैश

राजपूत समाज के आंदोलनकारियों का ‘रॉबिनहुड’ था आनंदपाल !

मौत के बाद भी सरकार के लिए सिरदर्द बना गैंगस्टर

ओपिनियन पोस्ट
मोस्ट वॉन्टेड गैंगस्टर आनंदपाल सिंह के एनकांउटर के बाद राजस्थान के कई जिलों में हिंसक घटनाएं हो रही हैं। पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने के बाद आनंदपाल के परिवार और समर्थकों मामले में सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं।
जीते जी सरकार के लिए चुनौती बना आनंदपाल अब मौत के बाद भी सरकार के लिए सिरदर्द बन गया है। राजपूत समाज और आनंदपाल के समर्थक आंदोलन और हिंसा पर उतर आएं हैं। करीब 50 हजार से अधिक लोग सड़कों पर बवाल कर रहे हैं। पूरे राजस्थान में हिंसा का माहौल पैदा हो गया है । आज राजपूत समाज के लोगों ने पुलिस पर हमला कर वाहनों को आग के हवाले कर दिया है। राजपूत समाज के लोग इस एनकाउंटर को फर्जी बताते हुए इस मामले में सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं। पुलिस के साथ प्रदर्शनकारियों की झड़प में 20 लोगों के घायल होने की खबर है।
वहीं, हिंसा को बढ़ता देख प्रशासन ने राज्य में बिजली और इंटरनेट की सेवाओं बंद कर दी है और इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई है। बताया जा रहा है करीब 50 हजार राजपूत नागौर में आनंदपाल एनकाउंटर की सीबीआई जांच की मांग लेकर इकठ्ठे हुए। वहीं, अचानक भीड़ में गुस्सा भड़कने से उन्होंने पुलिस पर हमला बोल दिया। जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गए जबकि पुलिस ने भीड़ को खदेड़ने के लिए कई राउंड फायरिंग की जिसमें राजपूत समाज के तीन लोग जख्मी हो गए। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस बल ने पूरे इलाके को चारों तरफ से घेर लिया। हिंसा के दौरान घायल हुए पुलिसकर्मियों और अन्य लोगों को उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया है।
इलाके में तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। समर्थकों ने रेल की पटरी पर भी कब्जा किया हुआ है। खबर है कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मंत्रियों की आपात बैठक भी बुलाई है।

गैंगस्टर के लिए आंदोलन क्यों
जानाकरों का मानना है आंदोलन कर हे लोग आनंदपाल को अपना ‘रॉबिनहुड’ मानते थे। ये लोग आनंदपाल को अपने समाज का अगुआ समझते हैं। सियासत से निकले इस अपराधी की मौत पर जमकर सियासत हो रही है।
आनंदपाल के परिवार वालों ने पिछले 3 हफ्ते से उसका अंतिम संस्कार नहीं किया है। उसका शव अबतक फ्रीजर में रखा हुआ है। आनंदपाल के एनकाउंटर पर सियासत गर्म हो गई है। राजपूत समाज राजे सरकार पर साजिश का आरोप लगा रहा है। राजपूत करणी समाज का कहना है कि पहले आनंदपाल के खिलाफ साजिश की गई उसको फर्जी एनकाउंटर में ढेर कर दिया गया।

‘रॉबिनहुड’ मानते हैं लोग
आनंदपाल सिंह के एनकाउंटर पर सवाल उठाते हुए आंदोलन कर रहे लोग ‘रॉबिनहुड’ मानते हैं। जबकि पुलिस रिकॉर्ड में वो कुख्यात गैंगस्टर था कि। अदालत ने भी आनंदपाल को एक नहीं 6 बार भगोड़ा घोषित करना पड़ा था। दबंगई से रहने वाला गैंगस्टर आनंदपाल कानून का खासा जानकार और लॉ ग्रेजुएट था। अंग्रेजी बोलता था।

The following two tabs change content below.
ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।
ओपिनियन पोस्ट
About ओपिनियन पोस्ट (5258 Articles)
ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.


*