चीन को क्‍यों धमका रहा है आईएसआईएस

नई दिल्ली।

आईएसआईएस ने चीन में खून की नदियां बहाने की धमकी दी है, जबकि हिजबुल मुजाहिदीन के सरगना मसूद अजहर पर प्रतिबंध के मामले में चीन भारत की राह में रोड़े अटका रहा है। आईएस में शामिल हो चुके उईगर आतंकियों ने चीन लौटने का एलान किया है। उइगर चीन के अल्‍पसंख्‍यक मुस्लिम समुदाय से हैं। इनमें से कई यहां की दमनकारी नीति से तंग आकर आईएस में शामिल हो गए हैं।

दरअसल, चीन में मुस्लिम कम्युनिटी पर काफी पाबंदियां हैं। चीन में 2 करोड़ से ज्यादा मुस्लिम हैं। यहां 30 हजार से ज्यादा मस्जिदें और 10 मुस्लिम एथनिक ग्रुप हैं। इनमें से एक ‘उइगर’ कम्युनिटी ऐसी भी है, जिसे पिछले कई सालों से सेंसरशिप का सामना करना पड़ रहा है।दरअसल, दुनिया के सबसे खूंखार कहे जाने वाले आतंकी संगठन आईएसआईएस ने एक ताजा वीडियो में चीन को धमकी दी है कि जल्द ही चीन की नदियों में खून बहेगा।

चीन के जिनजियांग प्रांत में उइगर मुसलमानों की आबादी लंबे समय से सामान्य अधिकारों के लिए संघर्ष कर रही है। उन्हें अपने धार्मिक चिह्नों को सार्वजनिक करने,  बुर्का पहनने और सार्वजनिक स्थानों पर नमाज पढ़ने जैसी छूट नहीं है। धार्मिक मामलों में सरकारी प्रतिबंध का विरोध धीरे-धीरे विद्रोह का रूप ले रहा है।

आईएस ने इस विद्रोह का फायदा उठाते हुए उइगर मुस्लिमों के युवा वर्ग को भड़काकर अपने साथ कर लिया है। खबर है कि आईएस ने बड़ी संख्या में उइगर मुसलमानों से हाथ मिला लिया है और उइगरों को हथियार चलाने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इराक और सीरिया में बड़ी संख्या में उइगर मुसलमान आईएस की तरफ से लड़ रहे हैं।

जिनजियांग प्रांत में उइगरों और बहुसंख्यक हान आबादी के बीच हाल के वर्षों में टकराव काफी बढ़ा है। इस टकराव में सैकड़ों लोगों के मारे जाने की खबर है। हाल ही में इराकी सेना ने आधे घंटे का ऐसा वीडियो जारी किया है जिसमें आईएस लड़ाके उइगरों को प्रशिक्षित करते दिखाई दे रहे हैं।

इस वीडियो में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग भी दिखाए गए हैं। इसमें एक उइगर नौजवान अपने साथियों से एकजुट होने की अपील करता दिखाई-सुनाई दे रहा है। वीडियो में अमेरिका, चीन, रूस और दुनिया के हर हिस्से में झंडा बुलंद करने की बात कही गई है। दरअसल, जिन जगहों पर उन्हें प्रशिक्षण दिया जा रहा है, उनमें कुछ हिस्सा चीन के भीतरी इलाकों का है।

वीडियो में जिनजियांग प्रांत की जमीन को खून से लाल करने की बात कहते हुए बदला लेने का संकल्प लिया जा रहा है। वीडियो में जो व्यक्ति बोल रहा है, उसका उच्चारण व भाषा यारकंद निवासियों जैसी है, जो जिनजियांग प्रांत के काशगर के नजदीक का इलाका है। वीडियो में चीन की कम्युनिस्ट पार्टी और सरकार के बारे में जहर उगला गया है। वीडियो में कहा गया है कि ‘लंबी प्रताड़ना के चलते आंखों से जो आंसू बहे हैं, हम उनके बदले अल्लाह की मर्जी से चीन की नदियों में खून बहाएंगे।’

×