न्यूज फ्लैश

यूं विवाद में आए बिग बी   

हरिवंश राय बच्‍चन की कविता के इस्‍तेमाल पर अमिताभ बच्‍चन ने कुमार विश्‍वास को भेजा कॉपीराइट का नोटिस

नई दिल्‍ली।

हिंदी सिनेमा महानायक अमिताभ बच्‍चन और लोकप्रिय कवि व आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्‍वास में हरिवंश राय बच्‍चन की एक कविता के कॉपीराइट को लेकर ट्वीटर पर जो जंग छिड़ी है, वह लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गई है। विवादों से दूर रहने वाले अमिताभ बच्‍चन किस प्रकार विवाद में आ गए, उसकी भी चर्चा जोर शोर से चल पड़ी है।

बच्‍चन ने बुधवार रात को अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया- ‘हो सकता है कि अगर हम कुछ लोगों से ये कह सकें कि ‘दिमाग़’ एक ऐप है,  तो शायद वे उसका इस्तेमाल, उपयोग करना शुरू करदें।’  इस ट्वीट में अमिताभ बच्‍चन ने किसी का नाम नहीं लिखा है और न ही किसी को टैग किया है, लेकिन कुमार विश्‍वास के ट्वीट के कुछ घंटों बाद आया अमिताभ बच्‍चन का यह ट्वीट  सीधे न सही पर अप्रत्‍यक्ष रूप से कुमार विश्‍वास को नसीहत देता लग रहा है।

इससे पहले अमिताभ बच्‍चन ने अपने दिवंगत पिता कवि हरिवंश राय बच्‍चन की एक कविता का एक वीडियो में इस्‍तेमाल किए जाने पर आप नेता कुमार विश्‍वास को कानूनी नोटिस भेजा था। नोटिस में अमिताभ बच्‍चन ने कुमार विश्‍वास से इस कविता को हटाने के लिए कहा था और इससे होने वाली कमाई भी वापस करने की बात कही थी।

कुमार विश्‍वास से अमिताभ बच्‍चन इतने नाराज थे कि उन्‍होंने कॉपीराइट का केस वापस लेने से मना कर दिया और कॉपी राइट के लीगल नोटिस के बाद कुमार विश्‍वास ने हरिवंश राय बच्‍चन की कविता वाला वीडियो हटा दिया। उन्‍होंने यह भी बताया कि हरिवंश राय बच्‍चन की कविता सुनाने से उन्‍हें 32 रुपये की कमाई हुई है।

विश्‍वास ने लिखा कि इस कविता को पढ़ने से बाकी सभी लोगों ने मेरी तारीफ की लेकिन अमिताभ की ओर से मुझे कानूनी नोटिस का सामना करना पड़ा। मैं ‘बाबूजी’ के ट्रिब्यूट वीडियो को डिलीट कर रहा हूं। इससे 32 रुपये की कमाई हुई है। वो मैं आपको भेज रहा हूँ। प्रणाम। दरअसल बच्‍चन ने कहा था कि यह वीडियो जिसमें विश्‍वास कविता का पाठ करते दिख रहे हैं,  ‘कॉपीराइट का उल्‍लंघन’ है और 24 घंटे के भीतर वीडियो शेयरिंग साइट यूट्यूब से हटा दिया जाना चाहिए। उसके बाद कुमार विश्‍वास ने वीडियो डिलीट कर दिया।

कुमार विश्‍वास ने पिछले सप्‍ताह पुराने हिंदी कवियों को श्रद्धांजलि की श्रृंखला  ‘तर्पण’ की शुरुआत की थी। इस श्रृंखला को लेकर कुमार काफी उत्‍साहित थे और उन्होंने इसका जिक्र अपने ऑफिसियल फेसबुक, ट्वीटर पर भी किया था। इन कवियों में रामधारी सिंह दिनकर, बाबा नागार्जुन, निराला,  बच्चन,  महादेवी वर्मा,  दुष्यंत,  भवानी प्रसाद मिश्र के साथ अन्य कवियों की कविताएं शामिल हैं।

पिछले शनिवार को कुमार ने इस श्रृंखला के चौथे वीडियो के रूप में हरिवंश राय बच्‍चन की ‘नीड़ का निर्माण फिर-फिर’ नामक कविता का वीडियो डाला। जब अमिताभ बच्चन के किसी प्रशंसक ने यह वीडियो उन्‍हें टैग करते हुए ट्वीट किया तो उन्होंने इसे कॉपीराइट का हनन बताया और लीगल नोटिस भिजवाया।

The following two tabs change content below.
ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।
ओपिनियन पोस्ट
About ओपिनियन पोस्ट (4063 Articles)
ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

*