न्यूज फ्लैश

अयोध्या पर संसद में भी घमासान!

राम मंदिर पर प्राइवेट मेंबर बिल लाएंगे राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा

ओपिनियन पोस्‍ट।

अयोध्‍या पर संसद में भी घमासान की तैयारी की जा रही है। सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले की सुनवाई जनवरी 2019 तक टाल दी तो तमाम संगठन केंद्र सरकार पर संसद में बिल लाने का दबाव डालने लगे हैं। संघ विचारक और बीजेपी के करीबी राज्यसभा में सांसद राकेश सिन्हा ने तो अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए प्राइवेट मेंबर बिल लाने का ऐलान कर दिया है। बिल को सरकार के मंत्री के अलावा कोई संसद सदस्य भी पेश कर सकता है, जिसे प्राइवेट मेंबर बिल कहते हैं।

दरअसल, राकेश सिन्हा ने गुरुवार को इस सिलसिले में कई ट्वीट किए। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, लालू प्रसाद यादव, सीताराम येचुरी और बीएसपी सुप्रीमो मायावती समेत कई अन्य नेताओं को चुनौती भी दी है कि वे अपना स्टैंड क्लियर करें। साफ है कि 2019 के चुनावी साल से ठीक पहले अयोध्या मुद्दा एक बार फिर संसद के साथ-साथ पब्लिक डिबेट का हिस्सा बनने जा रहा है।

पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद मामले की सुनवाई अगले साल जनवरी तक टाल दी। इसके बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, विश्व हिंदू परिषद जैसे हिंदू संगठनों की तरफ से केंद्र की मोदी सरकार पर राम मंदिर के लिए अध्यादेश लाने का दबाव बनाया जा रहा है। केंद्र में स्पष्ट बहुमत की सरकार और यूपी में अबतक की सर्वाधिक मजबूत स्थिति को इंजॉय कर रही बीजेपी पर इस दबाव का जवाब देने का भी दबाव है।

अब्दुल्ला बोले-राम या अल्लाह वोट नहीं करेंगे

नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने कहा है कि भाजपा वाले सोचते हैं कि भगवान राम उन्हें 2019 का चुनाव जिता देंगे। चुनाव जीतने में ईश्वर मदद नहीं करेंगे क्योंकि वोट जनता करती है,  भगवान राम या अल्लाह वोट नहीं करेंगे।

क्या होता है प्राइवेट मेंबर बिल?

भारत की संसद में किसी भी कानून को बनाने की प्रक्रिया किसी भी सदन (लोकसभा या राज्यसभा) में बिल पेश करने से शुरू होती है। बिल को सरकार के मंत्री या किसी संसद सदस्य की तरफ से पेश किया जा सकता है। अगर सरकार के मंत्री बिल पेश करते हैं तो उसे गवर्नमेंट बिल और दूसरी स्थिति को प्राइवेट मेंबर बिल कहते हैं। यानी संसद में सरकारी विधेयकों के अलावा सदस्यों को व्यक्तिगत विधेयक लाने का भी अधिकार है। हालांकि इन विधेयकों का कानून की शक्ल लेना पार्टी लाइन या फिर सरकार के रुख से तय होता है।

महाराष्ट्र के सीएम ने दी राहुल को नसीहत

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने एक निजी चैनल से बातचीत करते हुए राम मंदिर निर्माण के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को आगे आकर सहयोग करने के लिए कहा है। फडणवीस ने कहा कि राहुल गांधी आजकल मंदिर-मंदिर जा रहे हैं। वो अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए भी मदद करें और राज्यसभा में अगर बिल पेश हो तो उसका समर्थन करें।

 

The following two tabs change content below.
ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।
ओपिनियन पोस्ट
About ओपिनियन पोस्ट (4574 Articles)
ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.


*