सोमवार से थम सकती है मेट्रो की रफ़्तार, कर्मचारियों ने दी हड़ताल की धमकी

ओपिनियन पोस्ट
Sat, 22 Jul, 2017 13:04 PM IST

सोमवार को दिल्ली मेट्रो की रफ्तार थम सकती है। स्टॉफ यूनियन ने कर्मचारियों के खिलाफ की गई कार्रवाई वापस लेने और सैलरी बढ़ाने की मांग को लेकर 24 जुलाई को पूरी तरह काम बंद रखने का ऐलान किया है।

स्टाफ यूनियन का कहना है कि विभागीय अनुशासनहीनता का आरोप लगाकर मुख्य आरटीआई पर्यवेक्षक विनोद शाह को नौकरी से निकाल दिया गया। अनिल कुमार मेहता और रवि भारद्वाज नाम के दो कर्मचारियों को मेजर पेनाल्टी का नोटिस दिया है।

कर्मचारियों ने शुक्रवार को भी बदरपुर, विश्वविद्यालय, कुतुब मीनार, शाहदरा समेत 7 मेट्रो स्टेशनों पर विरोध किया। हालांकि इससे मेट्रो के परिचालन में ज्यादा दिक्कत नहीं आई ।

दिल्ली एनसीआर में करीब 300 मेट्रो चलती हैं, जिसमें करीब 30 से 35 लाख लोग रोजाना सफर करते हैं। अगर मेट्रो का परिचालन बंद होता है तो परिवहन व्यवस्था पूरी तरह चरमरा जाएगी ।

बताया जा रहा है कि मेट्रो में करीब 9 हजार का परमानेंट स्टाफ है। 29 मई 2015 में DMRC से अग्रीमेंट हुआ था। जिसमें ये कहा गया था कि कर्मचारियों को बढ़े हुए पे-स्केल पर सैलरी मिलेगी, इसे लागू नहीं किया गया।

इस मामले पर डीएमआरसी का कहना है कि तीसरे वेतन आयोग को सरकार ने स्वीकार कर लिया है। जल्द उसकी घोषणा हो सकती है। इसके बाद वेतन से जुड़े मामलों पर जल्द फैसला लिया जाएगा।

READ  वोडा-आईडिया के विलय से पहले होगी छंटनी, जा सकती है 5 हजार लोगों की नौकरी
×