भारत-नेपाल सीमा पर तनाव

ओपिनियन पोस्ट
Fri, 10 Mar, 2017 18:28 PM IST

महराजगंज।

उत्तर प्रदेश स्थित भारत-नेपाल सीमा पर एक दिन पूर्व हुई गोलीबारी में एक नेपाली युवक की मौत के बाद दोनों देशों के बीच तनावपूर्ण हालात बने हुए हैं। यह गोलीबारी भारत की सशस्त्र सीमा बल के द्वारा उस वक्त की गई, जब सीमा पर नेपाली लोगों द्वारा भारतीय भूमि का अतिक्रमण किया जा रहा था।

युवक की मृत्यु के बाद सोनौली बॉर्डर पर शुक्रवार सुबह नेपाल के सैकड़ों लोगों की भीड़ ने हाथों में बैनर-पोस्टर लिए जमकर भारत विरोधी नारे लगाए। इस विरोध प्रदर्शन से सीमा पर तकरीबन दो घंटे तक आवाजाही बंद रही। खबरों के अनुसार गुस्साई नेपाली जनता ने भारतीय सीमा से सटे कैलाली, गौरीफन्टा, कंचनपुर आदि इलाकों में भारतीय नागरिकों की दुकानों और घरों में तोड़-फोड़ की साथ ही कई दर्जनों वाहनों को आग के हवाले कर दिया। वहीं भैरहवा में भारतीय ट्रकों पर पथराव किया गया। इसके अलावे बढ़नी और कृष्णानगर में सशस्त्र सीमा बल के विरोध में प्रदर्शन और नारे लगाए गए। इस घटना के बाद लखीमपुर खीरी में भी स्थिति तनावपूर्ण बना हुआ है।

गौरतलब है कि यह विवाद उस वक्त शुरू हुआ, जब कंचनपुर स्थित आनंद बाजार के निकट नोमेंस लैंड पर आवागमन के रास्ते पर हो रहे निमार्ण को एसएसबी ने यह कहते हुआ रुकवा दिया कि यह भूमि भारत की है। इससे आक्रोशित लोगों ने नेपाल सीमा की तरफ से एसएसबी जवानों पर ईंट-पत्थर बरसाने शुरू कर दिए। इसी बीच नेपाल की तरफ से किसी ने फायरिंग कर एसएसबी  पर दबाव बनाने की कोशिश की। इस फायरिंग में 30 वर्षीय नेपाली नागरिक गोविंद गौतम की मौत हो गई। हालांकि, एसएसबी के अधिकारियों का कहना है कि उनकी तरफ से गोली नहीं चलाई गई है। जबकि नेपाल के पुलिस अधिकारियों का कहना है कि एसएसबी की गोली से ही नेपाली युवक की मौत हुई है।

READ  भारत-अमेरिका कसेंगे चीन पर नकेल

सोनौली सीमा पर तनाव को देखते हुए सशस्त्र सीमा बल के डिप्टी कमांडेंट ने गुरुवार रात से ही सीमा पर अपने जवानों के साथ डेरा डाल दिया है। भारत और नेपाल के बीच ताजा विवाद को देखते हुए सीमा पर सुरक्षा के कड़े इंतजामात किए गए हैं।

×