न्यूज फ्लैश

क्यों बार-बार बेहोश हो जाते हैं गडकरी !

एक कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की तबीयत खराब हो गई। देखते ही देखते गडकरी स्टेज पर ही बेहोश हो गए। जिसके बाद स्टेज पर मौजूद लोगों ने जल्द से जल्द उन्हें संभाला और अस्पताल पहुंचाया।

बता दें कि इससे पहले भी वे एक कार्यक्रम में बेहोश हो गए थे। दिल्ली के जंतर-मंतर पर बीजेपी ने 21 अप्रैल, 2010 को देशभर से महंगाई विरोधी रैली बुलाई थी। इसमें हिस्सा लेने पार्टी कार्यकर्ता और दिग्गज नेता पहुंचे थे।

नितिन गडकरी रैली की अगुवाई करते हुए जंतर-मंतर की ओर बढ़ रहे थे, तभी बीच रास्ते में गर्मी की वजह से उन्हें चक्कर आ गए और बेहोश हो गए। उनके साथ मौजूद विजय गोयल, विजय जौली आदि ने उन्हें तुरन्त संभाला और पानी दिया। उसके बाद उन्हें वहां से उनके घर ले जाया गया। इस दौरान मौके पर मौजूद नेताओं ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया और बाद में रैली के समापन का ऐलान कर दिया गया था।

नितिन गडकरी ने कथित तौर पर सितम्बर, 2011 में वजन घटाने के लिए मुंबई के सैफी हॉस्पिटल में ऑपरेशन कराया था। जानकारी के मुताबिक, उन्होंने बैरियाट्रिक सर्जरी कराई थी। बताया जाता है कि अपने मोटापे की वजह से गडकरी पैदल चलने पर हांफने लगते थे। इसीलिए उन्हें सर्जरी की जरूरत पड़ी।

सूत्रों के मुताबिक गडकरी का ऑपरेशन सर्जन मुफ्फजल लकड़वाला ने किया। हालांकि, बीजेपी के सूत्रों ने गडकरी के ऑपेरशन की बात को नकराते हुए डायबिटीज के चेकअप के लिए सैफी अस्पताल में भर्ती होने की बात कही थी। वहीं, महाराष्ट्र बीजेपी के नेता इस बारे में कुछ भी बोलने से बचते दिखाई दिए थे। फिलहाल वे नागपुर से सांसद हैं।

The following two tabs change content below.
ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।
ओपिनियन पोस्ट
About ओपिनियन पोस्ट (4573 Articles)
ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.


*