विजय माल्या लंदन में गिरफ्तार, चंद मिनटाें में जमानत

ओपिनियन पोस्‍ट
बैंकों के कर्जदार विजय माल्या को लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया है। माल्या को ED से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में अरेस्ट किया गया है। लेकिन चंद मिनटाें में ही  माल्या का जमानत मिल गई।  बता दें कि इससे पहले भी कुछ महीने पहले माल्या को अरेस्ट किया गया था। बताया जा रहा है कि उसी मामले में यह आगे की कार्रवाई है। माल्या के ऊपर कुछ और आरोप भी लगाए जा सकते हैं। गौर करने वाली बात है कि 6 महीने के भीतर माल्या की यह दूसरी गिरफ्तारी है।
माल्या को इससे पहले वेस्टमिंस्टर कोर्ट के आदेश के बाद 18 अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था। हालांकि उस वक्त कुछ घंटों बाद ही माल्या को जमानत मिल गई थी।

क्या है माल्या का मामला?

इससे पहले, ब्रिटेन की सरकार ने भारत के प्रत्यर्पण के आग्रह को जिला जज को भेज दिया था। यह माल्या को भारत लाने और उन पर मुकदमा चलाने की दृष्टि से पहला कदम था। माल्या की बंद हो चुकी किंगफिशर एयरलाइंस पर बैंकों का 9,000 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज बकाया है।
माल्या पिछले साल दो मार्च को ब्रिटेन चले गए थे। जबकि इसके कुछ दिन बाद ही उच्चतम न्यायालय ने माल्या को अपने पासपोर्ट के साथ व्यक्तिगत रूप से 30 मार्च, 2016 को पेश होने को कहा था। भारत ने इस साल आठ फरवरी को औपचारिक तौर पर ब्रिटेन सरकार को भारत-ब्रिटेन प्रत्यर्पण संधि के तहत माल्या के प्रत्यर्पण का औपचारिक आग्रह किया था।

किन बैंकों का माल्या पर कितना करोड रूपया बकाया?

एसबीआई- 1600

पीएनबी- 800

आईडीबीआई- 800

बैंक ऑफ इंडिया- 650

यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया- 430

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया- 410

यूको बैंक- 320

कॉर्पोरेशन बैंक- 310

स्टेट बैंक ऑफ मैसूर- 150

इंडियन ओवरसीज बैंक- 140

फेडरल बैंक- 90

पंजाब एंड सिंध बैंक- 60

एक्सिस बैंक- 50

×