अलीबाबा फिलैनथ्रॉपी सीमा से परे : शुनयान झू

ओपिनियन पोस्ट
Thu, 06 Sep, 2018 16:04 PM IST

देब दुलाल पहाड़ी।

मदर टेरेसा की स्मृति में संयुक्तराष्ट्र अंतरराष्ट्रीय परोपकार दिवस पर एक्‍सआईएन फिलैनथ्रॉपी कॉन्फ्रेंस 2018 का आयोजन किया गया, जिसमें महिला समानता एवं शिक्षा की मौजूदा स्थिति और इंटरनेट प्लस फिलैनथ्रॉपी मॉडल के साथ अनूठे समाधानों पर चर्चा की गई। आयोजन अलीबाबा समूह के निजी धर्मार्थ कोष अलीबाबा फाउंडेशन ने अलीबाबा डिजिटल मीडिया एंड एंटरटेनमेंट ग्रुप के कारोबार यूसीवेब के साथ मिलकर किया। यह अपनी तरह का पहला सम्मेलन है जिसे चीन के बाहर आयोजित किया गया।

अलीबाबा समूह भारत को अपने परोपकार की रूपरेखा का एक बड़ा हिस्सा मानता है। यूसी का भारत में परोपकारी मिशन डिजिटल खाई को पाटना है। कार्यक्रम की मेजबानी भारतीय अभिनेत्री और कर्नल शमशेर सिंह फाउंडेशन की संस्थापक गुल पनाग ने की। हिंदी फिल्म अभिनेत्री कंगना रानौट भी कार्यक्रम में शामिल हुईं। एबिक्स इंक के सीईओ एवं अध्यक्ष और रॉबिन रैना फाउंडेशन के संस्थापक रॉबिन रैना और अधिवक्ता, समाजसेवी एवं रण समर फाउंडेशन की संस्थापक आभा सिंह आदि भी मौके पर उपस्थित रहे।

इस अवसर पर अलीबाबा डिजिटल मीडिया एंड एंटरटेनमेंट ग्रुप की कंपनी यूसी के अध्यक्ष शुनयान झू ने कहा, ‘दुनिया की पहली इंटरनेट कंपनी के तौर पर हम फिलैनथ्रॉपी को हमारी मुख्य रणनीति में एकीकृत करते हैं। अलीबाबा फिलैनथ्रॉपी सीमा से परे है। यही वजह है कि हम पहली बार फिलैनथ्रॉपी कॉन्फ्रेंस को चीन से बाहर यहां भारत लेकर आए। यह अलीबाबा के लिए भारत के महत्व को दर्शाता है। यह भी पहली बार है कि हमारे इंटरनेट प्लस फिलैनथ्रॉपी मॉडल ने वैश्विक पथ पर अपने पांव रखे हैं।’

READ  एयर इंडिया ने निकाला माली हालत सुधारने का तरीका, सलाद बंद-पत्रिकाएं कम

फिलैनथ्रॉपी सप्ताह 5 सितंबर को शुरू किया गया, जिसमें यूएन वुमेन इंडिया एमसीओ की कार्यक्रम विश्लेषक (गवर्नेंस) अरुणिमा सेन, बेयरफुट कॉलेज इंटरनेशनल के सीईओ मीगन फॉलन, चाइल्ड राइट्स एंड यू की क्षेत्रीय निदेशक सोहा मोइत्रा, पेटीएम के उपाध्यक्ष एवं पेटीएम बिल्ड फॉर इंडिया इनिशिएटिव के प्रमुख सौरभ जैन और अलीबाबा क्लाउड इंडिया के प्रबंध निदेशक एलेक्स ली भी शामिल हुए।

इस सप्ताह के दौरान अलीबाबा ग्रुप की विभिन्न कारोबारी इकाइयां वैश्विक स्तर पर जन भागीदारी के लिए कई परोपकार कार्यक्रमों का आयोजन करेंगी। अलीबाबा डिजिटल मीडिया एंड एंटरटेनमेंट ग्रुप के भीतर कारोबार यूसी की जड़ भारत में 7 वर्षों से है और यह अपने कारोबारी प्रभाव एवं ब्रांड प्रतिष्ठा के बल पर वैश्विक विस्तार एवं भारतीय गहराई के साथ अलीबाबा के परोपकारी प्रयासों को आगे बढ़ा रही है।

वर्ष 2013 की शुरुआत में यूसी ब्राउज़र भारत में तीसरा सबसे बड़ा थर्ड पार्टी मोबाइल ब्राउज़र बन गया जिसके इस देश में 13 करोड़ से अधिक सक्रिय यूज़र्स हैं। इसके अलावा, यूसी न्यूज़ फीड प्लेटफॉर्म अब भारत में अपनी तरह का सबसे बड़ा प्लेटफॉर्म है जो 10 करोड़ से अधिक भारतीय यूज़र्स की कंटेंट मांग पूरी कर रहा है। नए मिशन बिगर बी मीडिया, बिगर यू के साथ यूसी एक जिम्मेदार कंटेंट परितंत्र तैयार करने के लिए भारतीय कंटेंट रचनाकारों के साथ काम करेगी।

 

×