न्यूज फ्लैश

वीएचपी नेता प्रवीण तोगडिया ने केन्‍द्र पर निशाना साधते हुए कहा मेरी हत्‍या की हो रही साजिश

आईबी पर आवाज दबाने का लगाया आरोप

ओपिनियन पोस्‍ट
चौबीस घंटे के रहस्यमय घटनाक्रम के बाद विहिन नेता डॉ प्रवीण तोगड़िया ने होश में आते ही मंगलवार को सीधे केंद्र सरकार पर निशाना साधा। तोगड़िया ने सेंट्रल आईबी पर उनकी आवाज दबाने के आरोप लगाने के साथ कहा कि पुलिस उनका एनकाउंटर करने साजिश रच रही थी। इस घटनाक्रम के बाद धुर विरोधी कांग्रेस डॉ तोगड़िया के साथ खड़ी नजर आई, कांग्रेस के दिग्गज नेता अर्जुन मोढवाडिया ने हॉस्पिटल पहुंचकर उनकी कुशलक्षेम पूछी।

विहिप के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष डॉ प्रवीण तोगड़िया ने होश में आते ही कहा वे हिन्दुत्व की एकता, गौरक्षा, कश्मीरी पंडितों के हितों के लिए आवाज उठाते रहे हैं इसलिए उन्हें प्रताड़ित करने का प्रयास हो रहा है। उन्होंने अपने एनकाउंटर की आशंका जताई, वहीं केंद्रीय खुफिया विभाग पर उनकी आवाज दबाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि लोगों की सेवा के लिए उन्होंने दस हजार डॉक्टरों को तैयार किया, जिन्हें आईबी के अधिकारी घर घर जाकर डरा रहे हैं।

तोगड़िया ने कहा कि सोमवार सुबह वे विहिप कार्यालय पर अपने कमरे में पूजा कर रहे थे, तभी किसी ने आकर बताया कि राजस्थान पुलिस गैरजमानतीय वारंट लेकर उन्हें गिरफ्तार करने आ रही है, तोगड़िया ने अनिष्ट की आशंका जताते हुए कहा कि उन्हें पता चला कि पुलिस उनका एनकाउंटर करना चाहती है। इसलिए वे आॅटो में सवार होकर निकल गए थे। उनके साथ निकले दाढी वाले व्यक्ति की धीरू कपूिरया के रूप में पहचान हुई है।

कहा, परेशान कर रही है आइबी

बकौल तोगड़िया उन्होंने आॅटो से ही राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे व ग्रहमंत्री गुलाब चंद कटारिया को फोन कर पूछा लेकिन गैरजमानतीय वारंट की उन्हें कोई जानकारी नहीं थी। तोगड़िया ने कहा कि इससे पहले अहमदाबाद से निकले गैरजमानतीय वारंट को लेकर भी सरकार को जानकारी नहीं थी, तोगड़िया ने शंका जताई की दस दस साल पुराने मामलों को खोलकर उनकी आवाज दबाने का प्रयास हो रहा है। सेंट्रल आईबी सतत उनकी निगरानी कर रही है तथा उनके करीबियों को परेशान किया जा रहा है।

डॉ तोगड़िया ने कहा कि ये सीधे किसके इशारे पर हो रहा है, समय आने पर वे सबूतों के साथ इस मामले में साजिश करने वालों का भंडाफोड करने वाले हैं। आईबी उनके पीछे पडी हुई है लेकिन वे डरने वाले नहीं हैं, उनकी निगरानी नहीं की जा सके इसलिए उनहोंने मोबाइल बंद कर दिया था। तोगड़िया ने सोमवार की घटना के बारे में कहा कि वे राजस्थान जाकर सरेंडर करने के लिए एयरपोर्ट जा रहे थे लेकिन रास्तें में ही बेहोश हो गए उसके बाद रात को 11 बजे होश आया।

यहां बेहोशी की हालत में मिले तोगड़िया 

गौरतलब है कि तोगड़िया बेहोशी की हालत में कोतरपुर इलाके में मिले थे, यह वहीं जगह है जहां इशरत जहां व उसके तीन साथियों का एनकाउन्टर किया गया था। तोगड़िया की हालत अब पहले से बेहतर है, लेकिन अभी कुछ समय और चिकत्सकीय निगरानी में रखा जाएगा। तोगड़िया के बयान के बाद पाटीदार नेता हार्दिक पटेल, फर्जी मुठभेड़ के आरोपों में जमानत पर छूटे चर्चित सुपरकॉप डी जी वणजारा तथा विहिप व बजरंग दल के नेता व कार्यकर्ताओं ने उनसे मुलाकात की। कांग्रेस नेता अर्जुन मोढवाडिया की तोगड़िया से मुलाकात हैरतभरी रही चूंकि कोई भाजपा नेता अभी तक भी उनकी कुशलक्षेम पूछने नहीं गया।

भाजपा पर साधा निशाना

मोढवाडिया ने राज्य सरकार व भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि सरकार का विरोध करने वालों को सरकार प्रताड़ित करती है, डराने का प्रयास करती है, पूर्व ग्रहमंत्री हरेन पंड्या, आरएसएस प्रचारक संजय जोशी आदि इसके उदाहरण हैं। कांग्रेस प्रभारी व राजस्थान के पूर्व सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि डॉ तोगड़िया ने एनकाउन्टर की आशंका जताई है, सत्तापक्ष के लोगों की यह हालत है तो विपक्ष का क्या होगा। हिंसा की राजनीति नहीं होनी चाहिए, देश में अविश्वास का माहौल है।

जानिए, किसने क्या कहा

हिन्दू नहीं हिन्दू नेता व हिन्दुस्तान खतरे में है, डॉ तोगड़िया को सुरक्षा दी जानी चाहिए। वे किसान व लोगों की समस्याओं को उठाते रहे हैं, मैं भीऐसा करता आ रहा हूं, सरकार आवाज दबाने का प्रयास कर रही है।
हार्दिक पटेल, संयोजक पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति

विहिप नेता डॉ तोगड़िया ने गंभीर आरोप लगाए हैं, इन आरोपों की गंभीरता से जांच हो ताकि सच्चाई बाहर आ सके।
भरतसिंह सोलंकी, कांग्रेस अध्यक्ष गुजरात

विश्व हिन्दू परिषद के नेता डॉ प्रवीण तोगड़िया ने जो भी आरोप लगाए हैं पुलिस व प्रशासन उसकी जांच कर रही है। यह पूरा मामला जांच का विषय है।
जीतू भाई वाघाणी, भाजपा अध्यक्ष गुजरात 

The following two tabs change content below.
ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।
ओपिनियन पोस्ट
About ओपिनियन पोस्ट (5258 Articles)
ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.


*