democracy

लोकतंत्र को निराश करने वाला चुनाव

2019 का लोकसभा चुनाव इतिहास के पन्नों में मोदी केंद्रित यानी मोदी बनाम मोदी विरोधियों के बीच हुए चुनाव के रूप में दर्ज होगा. इस चुनाव में जनता से जुड़े सवाल गायब रहे, आम जन की समस्याओं पर कोई चर्चा नह...

सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने कहा देश का लोकतंत्र खतरे में

  ओपिनियन पोस्ट न्‍यायपालिका के इतिहास में पहली बार शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट के जज सार्वजनिक तौर पर सामने आए। सुप्रीम कोर्ट के चार जज जस्टिस चेलमेश्वर, जस्टिस मदन लोकुर, जस्टिस कुरियन जोसेफ, जस्...

जेएनयू- वैचारिक लोकतंत्र या भ्रमजाल

संध्या द्विवेदी साल 2012 की बात है। जेएनयू की प्रसिद्ध प्रेसिडेंशियल डिबेट चल रही थी। बारी आई मार्क्सवादी पार्टी के छात्र संगठन एसएफआई के उम्मीदवार वी. लेनिन कुमार की। लेनिन ने अपने भाषण के दौरान मार्...

×