bjp

कांग्रेस चेती, भाजपा ने नहीं बदला ढर्रा

लगता है, भारतीय जनता पार्टी ने विधानसभा चुनाव के नतीजों से कोई सबक नहीं लिया. यही वजह है कि लोकसभा चुनाव सिर पर होने के बावजूद पार्टी के अंदरखाने कलह थमने का नाम नहीं ले रहा. इसके ठीक विपरीत कांग्रेस...

सीतामढ़ी (बिहार) : रूठों को मनाना एक बड़ी चुनौती

सीतामढ़ी लोकसभा क्षेत्र में आगामी छह मई को मतदान होगा. 10 अप्रैल से इस सीट के लिए नामांकन शुरू हो जाएंगे, जो 18 अप्रैल तक चलेंगे. 22 अप्रैल तक नाम वापस लिए जा सकेंगे. जिले में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई...

अबकी बार किसकी सरकार

मोदी ने जो कहा, सो किया नवादा के डेंटल ओरल सर्जन डॉ. रमेश कुमार का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मिशन ने कई अहम मुकाम हासिल किए. स्वच्छ भारत मिशन, सबको आवास और प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना...

मगध (बिहार) : एनडीए और महागठबंधन में सीधी टक्कर

एनडीए के मजबूत गढ़ मगध के चार लोकसभा क्षेत्रों के राजनीतिक-सामाजिक समीकरण बदल गए हैं. 2014 के लोकसभा चुनाव में एनडीए, राजद-कांग्रेस और जदयू के बीच हुए त्रिकोणात्मक संघर्ष में चारों सीटों पर एनडीए को स...

बीजद-भाजपा में कांटे की टक्कर

आगामी ११ अप्रैल से चार चरणों में होने वाले लोकसभा एवं विधानसभा चुनावों को लेकर राजनीतिक दलों की सक्रियता बढ़ गई है. स्थानीय निकाय चुनाव में मिली कामयाबी को देखते हुए भाजपा जोश से लबरेज है, दूसरी ओर नव...

भाजपा की राह आसान नहीं

दिल्ली की सत्ता तक पहुंचने के लिए किसी भी पार्टी को कुछ राज्यों में बेहतरीन प्रदर्शन करना जरूरी है. भाजपा को अगर फिर से सत्ता में वापसी करनी है,  तो उसे उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल एवं ओ...

5वीं पारी की तैयारी पर भाजपा भारी

पिछले लगभग चार दशकों से राज्य पर एकछत्र राज करने वाले नवीन पटनायक लगातार पांचवीं बार अपनी सत्ता कायम रखने के लिए मैदान में उतरेंगे. उन्हें चुनौती देने के लिए कांग्रेस और भाजपा एक बार फिर कमर कस कर तैय...

भाजपा ने साधे एक तीर से दो निशाने

बाघमारा विधायक के साथ उनकी तकरार बिल्कुल निचले स्तर पर पहुंच गई थी. वे न सिर्फ जनसभाओं में एक-दूसरे के खिलाफ आग उगल रहे थे, बल्कि महिला कार्यकर्ताओं के जरिये एक-दूसरे पर यौन उत्पीडऩ के आरोप भी लगा चुक...

अबकी बार किसकी सरकार

बेजोड़ हैं नरेंद्र मोदी हड्डियों को जोडऩे में माहिर डॉ. भुवन सिंह का मानना है कि देश को जोड़े रखने की ताकत केवल नरेंद्र मोदी में है. सारी दुनिया ने देख लिया कि मोदी पहले किसी को छेड़ते नहीं हैं और कोई...

हिंदुत्व के सहारे भाजपा

किशनगंज से सिर्फ एक बार छोड़, कोई गैर मुस्लिम लोकसभा चुनाव जीत नहीं सका. जबकि अररिया और कटिहार से 1998 से 2009 तक भाजपा उम्मीदवार ही जीतते रहे. 2014 में मोदी की प्रचंड लहर के बावजूद सीमांचल में मात खा...

×