bihar

अबकी बार किसकी सरकार

जीएसटी से दिक्कत नहीं बिहार सेंट्रल चैंबर ऑफ  कॉमर्स के पूर्व अध्यक्ष एवं व्यवसायी देवेंद्र कुमार जैन का मानना है कि राष्ट्र हित में और देश के चहुंमुखी विकास के लिए दोबारा नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में...

केंद्रीय कृषि मंत्री की साख दांव पर

वर्ष 2002 में परिसीमन के बाद मोतिहारी लोकसभा पूर्वी चम्पारण लोकसभा के नाम से जाना जाता है. 1989 मे भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राधामोहन सिंह को भाजपा ने चुनावी समर में उतारा. उन्हें जीत...

बंद मिल-कारखाने पूछ रहे सवाल

अक्सर राजनीतिक उठापटक देखने वाली सीवान की जनता अभी पूरी तरह चुप है. उम्मीदवार जनता के बीच जाते हैं, तो उन्हें जवाब मिलता है कि यहां सारे वोट आपके हैं. हर उम्मीदवार यही आश्वासन पा रहा है. लेकिन, पीठ पी...

बिहार से हॉलीवुड

गरम मसाला गर्ल नीतू चंद्रा को अक्षय कुमार के अपोजिट लांच मिला, लेकिन वह उसका खास फायदा नहीं उठा सकीं. हिंदी फिल्मों से बोरिया-बिस्तर उठा, तो मैडम साउथ इंडियन फिल्मों में किस्मत आजमाने चल पड़ीं. लेकिन...

पूर्णिया (बिहार) : पुराने योद्धा, नया समीकरण

साल 2014 की मोदी लहर में नीतीश कुमार की लाज बचाने वाले संतोष कुशवाहा इस बार खुद मोदी के भरोसे हैं और 2004 से अब तक भारतीय जनता पार्टी का परचम लहराने वाले उदय सिंह उर्फ पप्पू ‘पंजा’ निशान लेकर मैदान मे...

सीतामढ़ी (बिहार) : रूठों को मनाना एक बड़ी चुनौती

सीतामढ़ी लोकसभा क्षेत्र में आगामी छह मई को मतदान होगा. 10 अप्रैल से इस सीट के लिए नामांकन शुरू हो जाएंगे, जो 18 अप्रैल तक चलेंगे. 22 अप्रैल तक नाम वापस लिए जा सकेंगे. जिले में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई...

विपक्षी एकता हुई निजी महत्वाकांक्षाओं का शिकार

मजबूत विपक्ष मजबूत लोकतंत्र की एक आवश्यक शर्त है. सिर्फ इसलिए नहीं कि सत्ता पर अंकुश बनाए रखना जरूरी है. इसलिए भी कि सत्ता से सवाल करते रहने का काम भी विपक्ष का ही है. लेकिन, भारतीय लोकतंत्र में आम तौ...

भाजपा की राह आसान नहीं

दिल्ली की सत्ता तक पहुंचने के लिए किसी भी पार्टी को कुछ राज्यों में बेहतरीन प्रदर्शन करना जरूरी है. भाजपा को अगर फिर से सत्ता में वापसी करनी है,  तो उसे उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल एवं ओ...

साफ होगा पीके का पत्ता

कहावत है, बड़ा कौर भले खाए, लेकिन बड़ा बोल न बोले. प्रशांत किशोर यही भूल कर गए. एनडीए में शामिल होने का फैसला जदयू द्वारा सर्वसम्मति से लिया गया था, जिस पर सवाल उठाने का कोई तुक बनता, लेकिन ‘पीके’ जोश...

300 पार मोदी सरकार : ओपिनियन पोल

लोकसभा चुनाव 2019 आजाद भारत के इतिहास का सबसे जटिल और महत्वपूर्ण चुनाव साबित होने जा रहा है. 2014 के चुनाव से पहले न तो किसी सर्वे और न किसी राजनीतिक विश्लेषक ने यह अनुमान लगाया था कि भारतीय जनता पार्...

×