कांग्रेस

कांग्रेस

राजरंग : जगन को मिला प्रशांत का सहारा

भाजपा, कांग्रेस एवं जदयू के लिए चुनाव प्रबंधन कर चुके प्रशांत किशोर ने इस बार दक्षिण की ओर रुख किया और आंध्र प्रदेश में अपना जलवा दिखाया. वहां उन्होंने वाईएसआर कांग्रेस के लिए चुनाव प्रबंधन किया और इस...

मगध से मिट गया कांग्रेस का नामोनिशान

कांग्रेस के कद्दावर नेता निखिल कुमार का टिकट भी क्षेत्रीय दलों के गठबंधन में काटकर दूसरे को दे दिया गया. निखिल मगध में कांग्रेस की साख बचाने की अंतिम उम्मीद थे. उनके पिता पूर्व मुख्यमंत्री सत्येंद्र न...

त्रिकोणीय मुकाबले में फंस गए नवीन

पिछले 19 सालों से ओडिशा में एकछत्र शासन करने के साथ-साथ जबरदस्त लोकप्रियता हासिल करने वाले नवीन पटनायक को पहली बार गंभीर चुनौती का सामना करना पड़ रहा है. चुनाव की घोषणा होने से पहले तक उनके पांचवीं बा...

खास प्रियंका के लिए आम सीट

प्रियंका गांधी वैसे तो कांग्रेस की वीवीआईपी मेंबर हैं, लेकिन हाल में पार्टी की एक बैठक में बतौर कांग्रेस महासचिव जब वह पहली बार शामिल हुईं, तो उनके लिए कोई खास व्यवस्था नहीं की गई थी. वह एक आम नेता की...

म़णिपुर चुनाव : नगा समझौेते पर सफाई देने को बाध्य भाजपा

गुलाम चिश्ती नगा समस्या के समाधान के लिए वर्ष 2015 में मोदी सरकार और एनएससीएन (आईएम) के बीच समझौते के मसौदे पर आम सहमति बन गयी थी। दोनों पक्षों के बीच बनी आम सहमति के बाद मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस...

×