क्‍या फर्जी थी सर्जिकल स्ट्राइक ?

नई दिल्ली। पीओके में भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक पर पूरा देश जश्न मना रहा है लेकिन विरोधी सरकार से सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांग रहे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भले ही सर्जिकल स्ट्राइक के लिए केंद्र सरकार की पीठ थपथपाई हो, लेकिन पार्टी के नेता संजय निरूपम ने स्ट्राइक को फर्जी बताया है। यह अलग बात है कि सरकार सेना पर भरोसा करने का आग्रह कर रही है।

यही नहीं, केजरीवाल ने वीडियो संदेश में सर्जिकल स्‍ट्राइक के सबूत मांगे थे। इसके बाद कांग्रेस ने भी सबूत की मांग कर दी। केजरीवाल ने कहा था कि सर्जिकल स्ट्राइक के लिए प्रधानमंत्री को सैल्यूट है लेकिन सरकार को पाकिस्तान का प्रोपेगेंडा खत्म कर देना चाहिए।

पूर्व सांसद संजय निरूपम ने ट्वीट किया, ‘हर हिंदुस्तानी चाहता है कि पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक हो लेकिन वह फर्जी न हो।’ उधर, सरकारी सूत्रों से जानकारी मिली है कि इससे बड़ा सबूत क्या होगा कि सर्जिकल स्ट्राइक के तुरंत बाद अमेरिका की एनएसए सुसेन राइस ने भारत के एनएसए अजित डोभाल को फोन किया था।

निरुपम ने ट्वीट किया कि सर्जिकल स्ट्राइक का राजनीति के लिए फायदा न उठाया जाए। राष्ट्रीय मुद्दों पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। इससे पहले यूपीए शासनकाल में केंद्रीय मंत्री रहे पी चिदंबरम ने भी सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल खड़े किए थे।

इससे पहले पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम ने कहा था कि भारतीय सेना ने पहले भी नियंत्रण रेखा पार कर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था। चिदंबरम ने कहा था कि यूपीए-2 सरकार के समय सेना ने जनवरी 2013 में बड़ा हमला किया था। इस हमले को भारत की पाकिस्तान के प्रति नीति में बदलाव की मिसाल के रूप में देखना जल्दबाजी होगी।

सरकार के सूत्रों का ये भी कहना है कि कि अमेरिकी सेट में सर्जिकल स्ट्राइक की तस्वीरें भी कैद हुई हैं। जिस वक्त अमेरिकी एनएसए ने फोन किया था, उस वक्त ऑपरेशन पूरी तरह खत्म भी नहीं हुआ था। भारतीय कमांडो सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देकर लौट रहे थे।

नहीं जारी होगा सर्जिल स्ट्राइक का वीडियो!

सूत्रों का कहना है की देश की सुरक्षा के मद्देनजर सेना सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो जारी नहीं करेगी। सेना नहीं चाहती कि दुश्मन देशों को वीडियो के जरिये भारत के ऑपरेशन को अंजाम देने की तकनीक का पता चले।

जारी रहेंगे सर्जिकल स्ट्राइक!

सेना पीओके में आतंक का अड्डा खत्म करने के लिए आगे भी सर्जिकल स्ट्राइक की तैयारी कर रही है। सरकार ने बीएसएफ और सेना को भी कहा है कि अगर सीमा पर फायरिंग की आड़ में घुसपैठ की कोशिश होती है तो जवाबी कार्रवाई में मोर्टार और आर्टीलरी शैलिंग के जरिए उस लॉन्च पैड को ही पूरी तरह तबाह कर दिया जाए।

कांग्रेस नेता और मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष संजय निरूपम ने ट्वीट कर सर्जिकल स्ट्राइक को फर्जी करार दे दिया है। विपक्ष के इन बयानों पर  सरकार की ओर से कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सेना पर सवाल उठाना ठीक नहीं, देश को सेना पर भरोसा है। बीजेपी ने केजरीवाल और कांग्रेस के बयान को सेना का अपमान बताया है।

×