प्रधानमंत्री मोदी का इंडोनेशिया दौरा कैसा रहा…

इंडोनेशिया पहुंचते ही प्रधानमंत्री ने अंग्रेजी और बहासा इंडोनेशिया में ट्वीट किए और भव्य स्वागत के लिए इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो का आभार व्यक्त किया। विडोडो देश में जोकोवी के नाम से लोकप्रिय हैं।

अपने आधिकारिक दौरे की शुरुआत करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कालीबाता हीरोज कब्रिस्तान में शहीदों को पुष्पांजलि दी। इस कब्रिस्तान में इंडोनेशियाई स्वतंत्रता संग्राम में शहीद हुए 7,000 से ज्यादा सैनिकों और युद्ध के नायकों को दफनाया गया है।

बुधवार को मोदी ने जोकोवी के साथ विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। आर्थिक और सांस्कृतिक मुद्दों के अलावा बैठक में रक्षा संबंधी मुद्दों पर भी चर्चा हुई। भारत हिंद महासागर में इंडोनेशिया की नौसेना को पोर्ट बनाने में मदद देगा।

भारत दक्षिण पूर्वी एशिया में निर्माण कार्य में हिस्सा लेना चाहता है। भारत के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि भविष्य में इंडोनेशिया और आसपास के देशों में हवाई अड्डों के निर्माण पर भी विचार किया जा सकता है।

दोनों नेताओं की बैठक के बाद जोकोवी ने मीडिया को संबोधित करते हुआ कहा भारत रक्षा मामलों में (हमारा) रणनीतिक पार्टनर है और हम सबंग द्वीप और अंडमान द्वीपों में मूलभूत सुविधाओं को दुरुस्त करने में इस साझेदारी को आगे बढ़ाएंगे।

मोदी और जोकोवी ने व्यापार, तकनीक और चिकित्सा के क्षेत्र में विस्तार करने पर भी समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि इन समझौतों से द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूती मिलेगी।

×