राष्ट्रपति कोविंद के बजट अभिभाषण में दिखी मोदी सरकार की उपलब्धियों की झलक

ओपिनियन पोस्‍ट
संसद भवन में राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ आज बजट सत्र की शुरुआत हो गई। उन्‍होंने अपने पूरे अभिभाषण के दौरान मोदी सरकार की योजनाओं का जिक्र करते हुए उपलब्धियां गिनाईं। साथ ही तीन तलाक बिल पर भी बोलते हुए कहा कि इसे पास कराया जाना चाहिए। यह मुस्लिम महिलाओं के हित में है।

राष्‍ट्रपति कोविंद ने संसद के दोनों सदनों को संबोधित किया। उन्‍होंने कहा, हम सभी भारतीयों ने गणतंत्र दिवस के साथ कई उत्सव मनाए। इस वर्ष गणतंत्र दिवस के समारोह में 10 देशों के प्रतिनिधियों ने आकर वसुधैव कुटुंबकम की दृष्टि में नया आयाम जोड़ा। उन्‍होंने आगे कहा कि देश में सामाजिक न्याय और आम जीवन को आसान बनाने के लिए काम किया जा रहा है। शायद ही किसी ने सोचा हो कि शौचालयों का निर्माण भी सामाजिक न्याय को बढ़ावा देगा।

राष्‍ट्रपति कोविंद ने कहा कि हमारा दायित्व है कि 2019 तक देश को पूरी तरह से स्वच्छ बनाकर पूज्य बापू के प्रति सच्ची श्रद्धा व्यक्त करें। वहीं तीन तलाक बिल पर कहा कि मैं आशा करता हूं कि इस बिल को जल्द ही कानून का रूप दिया जाएगा।

राष्‍ट्रपति कोविंद ने सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा कि उज्ज्वला योजना के तहत 3 करोड़ से ज्यादा परिवारों को गैस के कनेक्शन दिए गए हैं। लगभग 3 करोड़ लोग ऐसे हैं जिन्होंने पहली बार मुद्रा योजना का लाभ उठाया और स्वरोजगार शुरू करने में सफल हुए।

राष्‍ट्रपति कोविंद ने आगे कहा कि किसानों की समृद्धि के लिए डेयरी में ध्यान दिया जा रहा है। यूरिया का उत्पादन बढ़ने के साथ 100 प्रतिशत नीम कोटेड यूरिया का प्रयोग किया जा रहा है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसानों को सस्ता फसल बीमा दिया जा रहा है। मेरी सरकार ने गरीबों को 1 रुपये प्रति महीने से बीमा योजना उपलब्ध कराई है।

राष्‍ट्रपति कोविंद ने कहा कि बुजुर्गों की सामाजिक सुरक्षा के लिए मेरी सरकार वचनबद्ध है। मानववाद के प्रणेता दीनदयाल उपाध्यय के मार्ग पर चलते हुए लोगों की सेवा की जा रही है। राष्‍ट्रपति कोविंद ने आगे कहा कि भारत नेट परियोजना के तहत ग्राम पंचायतों को ब्रॉडबैंड से जोड़ने का काम किया जा रहा है। पहले चरण में 1 लाख गांवों को जोड़ा जा चुका है। सौभाग्य योजना के तहत 4 करोड़ लोगों को बिजली का कनेक्शन दिया जा रहा है। प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के तहत गरीबों को घर बनाने के लिए 6 प्रतिशत की राहत दी जा रही है।

आगे कहा कि मेरी सरकार ने स्वास्थ्य नीति बनाई है। प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्रों के माध्यम से 800 तरह की दवाइयां दी जा रही हैं। ह्रदय रोगियों के लिए स्टेंट की कीमत को कम कर दिया गया है। डॉक्टरों की उपलब्धता बढ़ाने के लिए एमबीबीएस की 13,000 सीटें मंजूर की गई हैैं। राष्‍ट्रपति कोविंद ने कहा कि सरकार ने इंटेसिफाइड मिशन इंद्रधनुष शुरू किया है। मेरी सरकार देश में स्कूली और उच्च शिक्षा को मजबूत कराने के लिए प्रतिबद्ध है। सरकार इंस्टिट्यूट ऑफ इमिनेंस बनाने पर काम कर रही है। आइआइएम को स्वायत्तता देने के लिए भी कानून बनाया गया है। हमारा देश सबसे युवा देश है। देश के युवाओं के लिए स्टार्ट अप इंडिया. स्टैंड अप इंडिया, स्किल इंडिया मिशन चलाया जा रहा है।

राष्‍ट्रपति कोविंद ने आगे कहा कि मेरी सरकार श्रम कानूनों में सुधार कर रही है। श्रम कानूनों के पालन के लिए रजिस्टर की संख्या 56 से घटाकर 5 कर दी गई है। सरकार ने खेल-कूद के क्षेत्र में भी काम कर रही हैै। यहां फीफा का सफल आयोजन हुआ। आज देश के हर कोने में फुटबॉल जैसे खेलों के प्रति आकर्षण बढ़ा है। मेरी सरकार ने खेलो इंडिया की शुरुआत की है।

राष्‍ट्रपति कोविंद ने कहा कि दशकों से लंबित 99 सिंचाई परियोजनाएं पूरी की जा रही हैं। पिछले वर्ष की तुलना में दाल के उत्पादन में 38 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। नेशनल फूड सिक्यॉरिटी एक्‍ट के तहत खाद्यान्न देने की व्यवस्था को पारदर्शी और सुलभ बनाया जा रहा है। सरकार ने राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा दने के लिए संविधान संशोधन विधेयक पेश किया गया है।

राष्‍ट्रपति कोविंद ने आगे कहा कि मेरी सरकार तुष्टीकरण नहीं सशक्तिकरण के साथ अल्पसंख्यकों के लिए काम कर रही है। मुस्लिम, सिख, ईसाई, जैन समाज के लोगों के रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए गए हैं। हमारे देश में ढाई करोड़ से ज्यादा दिव्यांग हैं। सरकार उनके लिए निरंतर काम कर रही है। दिव्यांग अधिकार अधिनियम 2016 लागू किया गया।

आगे कहा कि प्रधानमंत्री डिजिटल साक्षरता अभियान के तहत साक्षरता का अभियान चलाया जा रहा है। आधार द्वारा गरीब लाभार्थियों को सीधे सुविधाएं पहुंचाई जा रही हैं। वर्तमान सरकार की 400 से ज्यादा योजना में डिजिटल भुगतान किया जा रहा है। पर्यावरण की रक्षा के दिशा में भी सरकार की सराहना की। राष्‍ट्रपति कोविंद ने कहा कि देश में एलईडी बल्ब्स की बिक्री की जा रही है। इससे पर्यावरण की रक्षा के साथ प्रतिवर्ष 10 हजार करोड़ यूनिट बिजली की बचत हो रही है। साथ ही यह भी बताया कि इस वर्ष 12 जनवरी को इसरो ने पीएसएलवी सी 40 को लॉन्च करके 100वें उपग्रह का सफल प्रक्षेपण किया।

राष्‍ट्रपति कोविंद ने आगे कहा कि आधुनिक परिवहन व्यवस्थाएं इस तरह विकसित की जा रही हैं कि सभी सुविधाएें आपस में जुड़ी हों। रेलवे के विकास के लिए काम किया जा रहा है। मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड बुलेट ट्रेन का काम शुरू हो गया है। वहीं यह भी कहा कि मेरी सरकार ने राज्यों को सस्ती बिजली की उपलब्धता सुनिश्चित की है।

राष्‍ट्रपति कोविंद ने कहा कि भारत हमेशा सहयोग की भावना से काम करता है। आज विश्व के किसी भी कोने में बसे भारतीयों को भरोसा है कि वे कहीं भी संकट में पड़ेंगे तो उनकी सरकार उन्हें वापस ले आएगी। 90 हजार भारतीयोें को वापस लाया गया है। यह भी कहा कि सरकार की प्रभावी नीतियों के कारण प्रत्यक्ष विदेशी निवेश 60 बिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुंच गया है। यह भी बताया कि 251 पासपोर्ट सेवा केंद्रों को मंजूरी दी जा चुकी है। विकास को ठोस आधार देने के लिए आर्थिक संस्थानों को मजबूत करने का काम किया जा रहा है। यह भी कहा कि एक साथ चुनाव कराने के विषय पर संवाद बढ़ना चाहिए तथा सभी राजनैतिक दलों के बीच सहमति बनाई जानी चाहिए।

गौरतलब है कि राष्‍ट्रपति कोविंद इस बार बग्‍घी से नहीं बल्कि कार से संसद पहुंचे। इसके बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली आर्थिक सर्वे पेश करेंगे। एक फरवरी को संसद में केंद्र सरकार देश का आम बजट पेश करेगी। इस सत्र में बजट के अलावा तीन तलाक समेत कई अहम बिलों पर चर्चा होगी। तीन तलाक से जुड़ा बिल लोकसभा में पास हो चुका है लेकिन राज्यसभा में विपक्ष ने इसकी राह रोक रखी है।

विपक्ष सबसे पहले सुप्रीम कोर्ट के संवैधानिक संकट, करणी सेना के उत्पात और कासगंज की सांप्रदायिक घटना जैसे मुद्दों पर चर्चा के लिए सरकार को राजी करना चाहता है। वह भी अपनी शर्तों पर। दूसरी तरफ, सरकार एक साथ तीन तलाक और ओबीसी आयोग जैसे मुद्दों पर आगे बढ़ना चाहती है। ऐसे में फिर से अवरोध उत्पन्न हो तो आश्चर्य नहीं। रविवार को पहले सरकार की और फिर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन की सर्वदलीय बैठक हुई। बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी आए और उन्होंने सभी दलों से अपील की कि बजट सत्र के महत्व को देखते हुए सहयोग के साथ सदन चलाएं।

×